कार के बोनट पर स्कूल के मैनेजर को 5KM तक घसीटा

फरीदाबाद दिल्ली से सटे हरियाणा के फरीदाबाद में एक दिल दहला देने वाली वारदात सामने आई है। कार सवार युवकों ने एक निजी स्कूल के मैनेजर को कार के बोनट पर लटका कर पांच किलोमीटर तक घसीटा, इस दौरान वह चीखते-चिल्लाते रहे, लेकिन युवकों को रहम नहीं आया। दरअसल, युवकों ने फिल्मी स्टाइल में ऐसा खेल खेला, जिसमें प्रबंधक को काफी चोटें आ सकती थी। उन्होंने प्रबंधक पर कार चढ़ाने की, कोशिश की जिससे वे बोनट पर गिर गए। इसके बाद युवकों ने कार रोकने की बजाए तेज गति से दौड़ा दी। करीब 5 किलोमीटर तक प्रबंधक बोनट पर पड़े कार राेकने के लिए चिल्लाते रहे, पर युवक नहीं माने। आगे भीड़ देख कार रुकी और युवक भाग खड़े हुए। खेड़ीपुल थाना पुलिस ने दो दिन तक मामला दर्ज नहीं किया। सोमवार को सेंट्रल थाने में युवकों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। पुलिस ने कार कब्जे में ले ली है। युवकों की तलाश की जा रही है।


पत्नी को लेने जा रहे थे प्रबंधक


सेक्टर-8 निवासी शिवम चौधरी एक निजी स्कूल में प्रबंधक हैं। उनकी पत्नी नेहा मेट्रो अस्पताल प्रबंधन में है। शनिवार शाम शिवम पत्नी नेहा को लेने अपनी होंडा सिटी कार से अस्पताल जा रहे थे। सेक्टर-9-12 की विभाज्य रोड, इंडियल ऑयल के पीछे वाली सड़क पर एक स्विफ्ट कार चालक उनकी कार को पीछे से टक्कर मार भाग गया। शिवम ने पीछा कर बीपीटीपी चौक बाईपास की लाल बत्ती पर युवकों की कार को रोक लिया। प्रबंधक स्विफ्ट कार का फोटो खींचने लगे तो युवकों ने प्रबंधक पर कार चढ़ाने की कोशिश की, जिससे वे उनकी कार के बोनट पर गिर गए। इसके बाद युवकों ने कार रोकने की बजाए नहरपार के एरिया में तेजी से भगा दी।



युवकों ने मैनेजर से की हाथपाई


तीन किलोमीटर दूर एडोर चौक और इसके बाद यू टर्न लेकर एसआरएस चौक तक शिवम कार के बोनट पर ही लटके रहे। एसआरएस चौक पर कार रुकी तो उसमें से चार युवक उतरे। युवकों ने उनके साथ हाथापाई की। मौके पर काफी लोग आए तो युवक भाग गए। सूचना मिलने पर खेड़ीपुल थाने से पुलिस आई और कार को कब्जे में लिया। शिवम के अनुसार खेड़ीपुल थाना पुलिस ने दो दिन तक मामला दर्ज नहीं किया। खेड़ीपुल थाने में एक एसआइ राजीनामा करने पर जोर दे रहा था। सोमवार को उन्हें बताया कि यह मामला सेंट्रल थाने के अंतर्ग आता है। शिवम ने बताया कि युवकों ने शराब पी हुई थी। जब वे उनसे हाथापाई करने कार से उतरे थे तो उनके मुंह से गंध आ रही थी। वे उसे जान से मारने की धमकी दे रहे थे।


विजय कुमार (एएसआइ, सेंट्रल थाना) के मुताबिक,  कार किसी बुढ़ैना के रहने वाले की बताई गई है। अब पता किया जा रहा है कि घटना के समय इसे कौन चला रहा था। जल्द युवकों को गिरफ्तार किया जाएगा।