भारत बांग्लादेश सीमा के पास बीएसएफ ने तस्करी को नाकाम कर 11 दुर्लभ प्रजाति के विदेशी पक्षियों को बचाया

 भारत बांग्लादेश सीमा के पास बीएसएफ द्वारा जब्त विदेशी पक्षी।

बीएसएफ ने बताया कि इन पक्षियों को उत्तर 24 परगना में की तेंतुलबेरिया इलाके से सीमा पार करा बांग्लादेश से भारत में लाया जा रहा था। जब्त पक्षियों में दो ब्लू एंड येलो मकाउ एक स्कारलेट मकाउ एक बड़ा कोकटू तीन सेवेरे मकाउ चार अमेज़न ऑरेंज विंग्ड तोते शामिल हैं।

कोलकाता, राज्य ब्यूरो। सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के दक्षिण बंगाल फ्रंटियर के जवानों ने बंगाल के उत्तर 24 परगना जिले में भारत बांग्लादेश सीमा के पास वन्यजीवों की तस्करी को नाकाम करते हुए दुर्लभ प्रजाति के 11 विदेशी पक्षियों को जब्त किया है।

बीएसएफ की ओर से बयान में बताया गया कि इन पक्षियों को उत्तर 24 परगना में बीएसएफ की सीमा चौकी तेंतुलबेरिया इलाके से अवैध तरीके से सीमा पार करा कर बांग्लादेश से भारत में लाया जा रहा था। जब्त पक्षियों में दो ब्लू एंड येलो मकाउ, एक स्कारलेट मकाउ, एक बड़ा कोकटू, तीन सेवेरे मकाउ, चार अमेज़न ऑरेंज विंग्ड तोते शामिल हैं।

बयान के मुताबिक,18 दिसंबर को सीमा चौकी तेंतुलबेरिया, 158वीं वाहिनी, सेक्टर कोलकाता के सीमा सुरक्षा बल के जवानों ने ग्राम तेंतुलबेरिया के नजदीक जंगल के इलाके में एक विशेष गश्त अभियान चलाया। इस दौरान जवानों ने कुछ संदिग्ध व्यक्तियों की हरकतें देखी जो जवानों को आते देख खुद को बांस की झाड़ियों के पीछे छुपाने का प्रयास कर रहे थे। जब जवानों ने उन्हें चुनौती दी, तो वे भागने की कोशिश करने लगे और वे अपने साथ दो बड़े पिंजरे भी लिए हुए थे। यह देख जवानों ने तेजी से उनका पीछा करने लगा, लेकिन तस्कर पिंजरे को छोड़ घनी फसल का लाभ उठाकर भागने में सफल रहे।

जब जवानों ने इलाके की सघन तलाशी ली तो दो पिंजरे बरामद हुए जिसके अंदर 11 दुर्लभ प्रजाति के विदेशी पक्षी थे। बीएसएफ ने आगे की कार्रवाई के लिए जब्त किए गए सभी पक्षियों को कस्टम कार्यालय पेट्रापोल के माध्यम से डायरेक्टर जूलोंजीकल कार्यालय, अलीपूर, कोलकाता को सौंप दिया है। इधर, 158वीं वाहिनी, बीएसएफ के कमांडिंग ऑफिसर सुरेंदर सिंह ने अपने जवानों की उपलब्धि पर खुशी व्यक्त की, जिसके परिणामस्वरूप दुर्लभ प्रजाति के पक्षियों की तस्करी को नाकाम कर इसे जब्त किया गया।उन्होंने कहा कि यह केवल ड्यूटी पर तैनात उनके जवानों द्वारा प्रदर्शित सतर्कता के कारण ही संभव हो सका है। उन्होंने आगे बताया कि महानिरीक्षक, दक्षिण बंगाल सीमांत, बीएसएफ द्वारा शुरू किए गए अभियान के तहत सीमा पर होने वाले अपराधों के प्रति शून्य शाहिष्णुता के संकल्प को पूरा करने के लिए उनके जवान पूरी तरह से दृढ़ और प्रतिबद्ध हैं।