ब्रिटेन से भारत के विभिन्‍न राज्‍यों में आए अब तक 12 कोरोना वायरस संक्रमित, एयरपोर्ट पर बन रही हेल्‍प डेस्‍क

ब्रिटेन से भारत आए यात्री पाए जा रहे संक्रमित
ब्रिटेन में घातक कोरोना वायरस की नई स्‍ट्रेन की खबर है जो काफी तेजी से फैलता है। इस क्रम में वहां से भारत आने वाली विभिन्‍न उड़ानों के यात्रियों का कोविड टेस्‍ट कराया जा रहा है। अब तक 6 से अधिक यात्री के संक्रमित होने की पुष्‍टि हो गई है।

नई दिल्‍ली, एजेंसी। भारत के विभिन्‍न राज्‍यों में कोरोना वायरस संक्रमण के नए मामले ब्रिटेन से आने वाले यात्रियों के कारण मिल रहे हैं। वहां से आने वाले उड़ानों के जरिए अब तक देश के विभिन्‍न राज्‍यों में कुल 9 संक्रमित यात्री आ चुके हैं। हालांकि अभी यह कहना मुश्‍किल है कि ये सभी कोरोना वायरस की नई स्‍ट्रेन से संक्रमित हुए हैं। इसकी जांच के लिए चेन्‍नई आए संक्रमित यात्री के सैंपल को पुणे स्‍थित एनआइवी भेजा गया है ताकि इस बात की पुष्‍टि हो सके। 

मंगलवार सुबह दिल्‍ली पहुंची ब्रिटिश एयरवेज उड़ान के सभी 199 यात्री का कोविड टेस्‍ट नेगेटिव आया है। यह जानकारी जीनस्‍ट्रिंग्‍स डायगोनॉस्‍टिक लैब के सीओओ चेतन कोहलीने दिया।

अंतरराष्‍ट्रीय एयरपोर्ट पर हेल्‍प डेस्‍क

हालात को देखते हुए देश के तमाम अंतरराष्‍ट्रीय एयरपोर्ट पर हेल्‍प डेस्‍क बनाने का निर्णय लिया गया है। दरअसल, वहां से आ रहे यात्रियों को भारत पहुंचते ही एयरपोर्ट पर कोविड टेस्‍ट RT-PCR कराना होगा। सोमवार को भारत ने 23 से 31 दिसंबर तक ब्रिटेन के लिए विमानों की आवाजाही पर रोक लगाने का ऐलान किया ताकि ब्रिटेन में आए कोविड-19 के नए स्‍ट्रेन का संक्रमण भारत में फैलने से रोका जा सके।अब तक कर्नाटक, चेन्‍नई, दिल्‍ली, पंजाब और कोलकाता में ब्रिटेन से लौटे यात्रियों के कोविड संक्रमित होने की पुष्‍टि हुई है। इस क्रम में केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय के ज्‍वाइंट मॉनिटरिंग ग्रुप ने तत्‍काल एक बैठक बुलाई और ब्रिटेन में कोविड-19 के हालात का भारत में प्रभाव का जायजा लिया। साथ ही इसके समाधान पर भी चर्चा की। कोरोना वायरस के नए स्‍ट्रेन के कारण ब्रिटेन में सनसनी है और वहां सरकार ने लॉकडाउन लागू कर दिया है।

अमृतसर एयरपोर्ट पर लंदन से आई उड़ान में तीन संक्रमित

सोमवार देर रात पंजाब स्‍थित श्री गुरु रामदास जी अंतर्राष्ट्रीय एयरपोर्ट पर लंदन से आई उड़ान के क्रू मेंबर्स समेत 242 यात्रियों का कोविड-19 टेस्‍ट मंगलवार को कराया गया। इसमें तीन लोगों के संक्रमित होने की पुष्‍टि की गई। इन्‍हें गुरु नानक देव अस्पताल की आइसोलेशन वार्ड में शिफ्ट कर दिया गया। टेस्ट के नतीजों में देरी होने के कारण वहां यात्रियों ने व उन्हें लेने आए रिश्तेदारों ने एयरपोर्ट के बाहर हंगामा किया।

कर्नाटक में ब्रिटेन से लौटा शख्‍स संक्रमित

कर्नाटक के मुख्‍यमंत्री बीएस येदियुरप्‍पा (BS Yediyurappa) ने ब्रिटेन से वहां लौटे एक शख्‍स के संक्रमित होने की जानकारी दी। उन्‍होंने कहा, 'ब्रिटेन से लौटे एक शख्‍स के संक्रमित होने की जानकारी मुझे मिली है। हम सभी गाइडलाइंस का पालन कर रहे हैं। वहां से लौटने वाले हर यात्री को कोविड टेस्‍ट कराना अनिवार्य कर दिया गया है। कर्नाटक में अभी नाइट कर्फ्यू की आवश्‍यकता नहीं है।'

लंदन से चेन्‍नई लौटा एक यात्री संक्रमित

लंदन से चेन्‍नई (Chennai) आए एक यात्री को संक्रमित पाया गया है। यह जानकारी स्‍वास्‍थ्‍य विभाग ने मंगलवार को दी है। विभाग ने बताया कि यह सैंपल पुणे के नेशनल इंस्‍टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी (NIV) भेजा गया ताकि इसकी जांच की जा सके कि यह वायरस का नया स्‍ट्रेन है या वही पुराना। यात्री को किंग्‍स इंस्‍टीट्यूट हॉस्‍पीटल भेजा गया है और फिलहाल वह क्‍वारंटाइन है। तमिलनाडु के स्‍वास्‍थ्‍य सचिव जे राधकृष्‍णन (J Radhakrishnan) ने मंगलवार को बताया, 'पिछले दस दिनों में जिसने भी ब्रिटेन दौरा किया हम उसकी पहचान कर रहे हैं और RT-PCR टेस्‍टिंग कर रहे हैं। हम ब्रिटेन से आने-जाने वाले और वहां रुकने वाले फ्लाइट के सभी यात्रियों की मॉनिटरिंग कर रहे हैं और जो चेन्‍नई में संक्रमित यात्री है उनके बारे में यह नहीं कहा जा सकता कि वो ब्रिटेन की नई स्‍ट्रेन से ही संक्रमित हैं।

ब्रिटेन से कोलकाता पहुंचा संक्रमित यात्री

एयर इंडिया के लंदन-दिल्‍ली उड़ान पर 6 यात्रियों को कोविड-19 पॉजिटिव पाया गया है। यह उड़ान सोमवार रात 11.30 बजे दिल्‍ली में उतरी। इनमें से पांच दिल्ली एयरपोर्ट पर ही संक्रमित पाए गए और एक चेन्‍नई में। कोलकाता एयरपोर्ट पर भी लंदन से लौटे दो यात्रियों के संक्रमित होने की पुष्‍टि की गई है। ब्रिटेन से कुल 222 यात्रियों को लेकर रविवार को कोलकाता के नेताजी सुभाष चंद्र बोस इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर उड़ान की लैंडिंग हुई। इनमें से 25 के पास कोविड रिपोर्ट नहीं थे इसलिए इन्‍हें पास के क्‍वारंटाइन सेंटर ले जाया गया और टेस्‍ट कराई गई। इसमें से दो की रिपोर्ट पॉजिटिव पाई गई।कोविड-19 प्रोटोकॉल के अनुसार, सभी अंतरराष्‍ट्रीय यात्रियों को भारत आने के बाद 7 दिनों के लिए क्‍वारंटाइन रहना है। उल्‍लेखनीय है कि ब्रिटेन में कोरोना वायरस की नई स्‍ट्रेन से संक्रमण फैल रहा है। मिली खबर के अनुसार यह संक्रमण काफी तेजी से फैलता है।

ब्रिटेन में कोरोना वायरस का नया स्ट्रेन मिलने के बाद वहां से आने-जाने वाली उड़ानें प्रतिबंधित होने से कई भारतीय परिवार वहां फंस गए हैं। जिन लोगों ने क्रिसमस और नए साल के मौके पर भारत आने की तैयारी की थी, उन्हें अचानक उड़ानें प्रतिबंधित होने की खबर से झटका लगा है।विभिन्न शिक्षण संस्थानों के पूर्व छात्रों और छात्र संगठन से जुड़े लोगों का कहना है कि नए प्रतिबंधों से ब्रिटेन आने-जाने वाले छात्रों पर असर पड़ा है। कई छात्रों ने इस दौरान भारत लौटने की योजना बनाई थी।