अमेरिका : बांग्लादेश के 1971 के नरसंहार को लेकर पाक दूतावास पर प्रदर्शन, प्रदर्शनकारियों ने जमकर की नारेबाजी

 प्रदर्शनकारियों के हाथों में पाकिस्तान के खिलाफ बैनर-पोस्टर


पाक फौज ने उस रात चुन-चुनकर विश्वविद्यालय के छात्रों प्रोफेसरों और शिक्षाविदों की हत्या की। हजारों लोग गायब हो गए जिनका बाद में कुछ भी पता नहीं चला। प्रदर्शनकारियों ने विश्व बैंक और अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष जैसी संस्थाओं से पाक को मदद बंद करने की अपील की।

वाशिंगटन, एएनआइ।  बांग्लादेश में 1971 में पाकिस्तानी फौज के नरसंहार को अमेरिका में रहने वाले लोगों ने याद किया। पाकिस्तानी दूतावास पर सैकड़ों लोगों ने प्रदर्शन करते हुए माफी मांगने की अपील की। प्रदर्शनकारियों के हाथों में पाकिस्तान के खिलाफ बैनर-पोस्टर थे।

प्रदर्शनकारियों ने कहा कि पाकिस्तान की फौज ने 1971 में ऑपरेशन सर्च के नाम पर एक लाख से ज्यादा निर्दोषों की एक ही दिन में हत्या कर दी थी। हजारों महिलाओं के साथ सामूहिक दुष्कर्म किया गया। पाक फौज ने उस रात चुन-चुनकर विश्वविद्यालय के छात्रों, प्रोफेसरों और शिक्षाविदों की हत्या की। हजारों लोग गायब हो गए, जिनका बाद में कुछ भी पता नहीं चला।

प्रदर्शनकारियों ने अमेरिका के प्रशासन मांग की कि नरसंहार करने वाली फौज के उन 195 युद्ध अपराधियों के खिलाफ कार्रवाई करे, जिन्हें पाक सरकार बचाना चाहती है। प्रदर्शनकारियों ने विश्व बैंक और अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष जैसी संस्थाओं से पाक को मदद बंद करने की अपील की।