सिर्फ 20 रुपये के फेर में सफीकुल आलम ने गंवा दिए 1.50 लाख, वजह आप भी जानिए

 एक बदमाश ने हरिहरा गांव निवासी सफीकुल आलम के डेढ़ लाख रुपये उड़ा लिए।

सफीकुल बैंक से निकाले गए एक लाख 50 हजार रुपये थैली में रखकर अपनी बाइक के पास पहुंचा। रुपये रखने के लिए वह डिक्की खोल रहा था तभी एक युवक वहां पहुंचा और कहा कि आपके 20 रुपये गिर गए हैं।

साहिबगंज, सं। साहिबगंज जिले के बरहड़वा थाना क्षेत्र के मेन रोड में स्थित भारतीय स्टेट बैंक के सामने से सोमवार को एक बदमाश ने हरिहरा गांव निवासी सफीकुल आलम के डेढ़ लाख रुपये उड़ा लिए। सफीकुल बैंक से निकाले गए एक लाख 50 हजार रुपये थैली में रखकर अपनी बाइक के पास पहुंचा। रुपये रखने के लिए वह डिक्की खोल रहा था, तभी एक युवक वहां पहुंचा और कहा कि आपके 20 रुपये गिर गए हैं।  सफीकुल ने पीछे मुड़कर देखा तो वास्तव में बाइक से कुछ दूरी पर 20 रुपये का एक नोट पड़ा था। सफीकुल गलती से बाइक पर ही थैली छोड़ कर जैसे ही नोट उठाने लगा, युवक रुपये लेकर फरार हो गया। घटना की सूचना मिलते ही बरहड़वा थाना प्रभारी रवींद्र कुमार बैंक पहुंचे और सफीकुल से मामले की जानकारी ली।

उग्रवादी और अपराधी आत्मसमर्पण करें नहीं तो कार्रवाई के लिए रहें तैयार : डीजीपी

खूंटी में पुलिस के साथ मुठभेड़ में पीएलएफआइ के रिजनल कमांडर 15 लाख रुपये के इनामी जीदन गुडिय़ा के मारे जाने पर डीजीपी एमवी ने जवानों को बधाई दी। उन्होंने पुलिस व सीआरपीएफ के जवानों का हौसला बढ़ाते हुए कहा कि उग्रवादी और अपराधी आत्मसमर्पण करें नहीं तो कार्रवाई के लिए तैयार रहें। डीजीपी ने कहा कि पीएलएफआइ आपराधिक संगठन है। ऐसे आपराधिक गिरोहों को मिटाना पुलिस की प्राथमिकता है। इसी कड़ी में जीदन गुडिय़ा की गिरफ्तारी के लिए गई पुलिस व सीआरपीएफ की टीम के साथ मुठभेड़ हो गई, जिसमें जिदन गुडिय़ा मारा गया।

पोस्टर का पुलिस को मिल रहा लाभ

हाल के दिनों में झारखंड पुलिस ने कुख्यात नक्सलियों-उग्रवादियों का पोस्टर जारी किया है और गांव-गांव में पोस्टर चस्पा कर लोगों से सहयोग मांगा है। पुलिस ने सूचनादाता को इनाम की राशि देने का वादा भी किया। पुलिस को इस पोस्टर का लाभ भी मिल रहा है। बताया जा रहा है कि पोस्टर की तस्वीर के आधार पर ही पुलिस को जीदन के बारे में गुप्त सूचना मिली थी, जिसके बाद कार्रवाई में वह मारा गया।