लंदन से अमृतसर एयरपोर्ट लौटे 242 यात्रियों में पांच मिले Corona संक्रमित, वायरस के नए स्ट्रेन से दहशत

 अमृतसर एयरपोर्ट के अंदर रोके गए लंदन से आए विमान यात्री। जागरण

लंदन से एक विशेष विमान पंजाब के अमृतसर हवाई अड्डे पर पहुंचे 242 यात्रियों में से तीन को कोरोना पॉजिटिव पाया गया है। इस यात्रियों का अमृतसर पहुंचने पर आरटी-पीसीटी टेस्‍ट किया जा गया है। विमान के क्रू मेंबरों का भी टेस्‍ट किया गया है।

अमृतसर, एएनआइ। यूरोप व मध्य पूर्व के देशों में कोरोना वायरस के नए स्ट्रेन की दहशत के बीच लंदन से विशेष विमान सोमवार देर रात अमृतसर पहुंचे 242 यात्रियों मे से पांच के कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। इसके अलावा छह यात्रियों की प्राथमिक रिपोर्ट पॉजिटिव आई है और नूमने का दूसरा टेस्‍ट किया जा रहा है। इससे अमृतसर एयरपोर्ट पर हड़कप मच गया है। अन्‍य यात्रियों की रिपोर्ट का इंतजार है। इससे कोरोना वायरस के नए स्‍टेन को लेकर अमृतसर एयरपोर्ट पर दहशत फैल गई है। बाद में निगेटिव रिपोर्ट वाले या‍त्रियों को अमृतसर एयरपोर्ट के बाद घर जाने दिया गया। अभी कई यात्रियों की रिपोर्ट का इंतजार है।

छह यात्रियों की प्रारंभिक रिपोर्ट पाॅजिटिव आने के बाद दूसरा टेस्‍ट, क्रू मेंबर सहित 264 लोगों के टेस्‍ट कराए गए

इन यात्रियों और विमान के क्रू मेंबर सहित 264 लोगों के नमूनों का अमृतसर के सरकारी मेडिकल कालेज स्थित इंफ्लूएंजा लैब में टेस्‍ट हुआ है। टेस्टिंग प्रक्रिया अभी जारी है, लेकिन पांच लोगों के पाजिटिव आने की पुष्टि लैब ने की है। इसके अलावा छह या‍त्रियों की प्राथमिक रिपोर्ट आने के बाद दूसरा टेस्‍ट किया जा रहा है।

अमृतसर एयरपोर्ट से घर जाते लंदन से लौटे यात्री। 

बता दें कि सोमवार देर रात तड़के लंदन से अमृतसर एयरपोर्ट पर पहुंचे ये विमान यात्री कोरोना टेस्ट करवाने के पक्ष में नहीं थे। उन्‍होंने टेस्‍ट करवाने के विरोध में स्वास्थ्य विभाग व पंजाब सरकार के खिलाफ नारेबाजी भी की। तीन लोगों के कोरोना पाजिटिव मिलने से एयरपोर्ट पर हड़कंप है। इन तीन लोगों के साथ सीट पर बैठे लोगों के भी कोरोना संक्रमित होने की संभावना व्यक्त की जा रही है। बहरहाल, अभी सभी का टेस्ट लैब में किया जा रहा हैं। तीन के अतिरिक्त और लोग भी पाॅजिटिव हो सकते हैं।

अमृतसर एयरपोर्ट के बाहर लंदन से लौटे या‍त्रियों के रिश्‍तेदार व जानकार।

बता दें कि इन लोगों को लेने काफी संख्‍या में उनके रिश्‍तेदार और करीबी संबह से ही पहुंचे हुए हैं। अधिकारियों ने यात्रियों को साफ बता दिया था कि उनको कोरोना टेस्‍ट से गुजरना होगा और रिपोर्ट मिलने के बाद ही उनको हवाई अड्डे से बाहर जाने दिया जाएगा। उनका कोविड का आरटी-पीसीटी टेस्‍ट से किया गया है।

कोरोना संक्रमित मिले यात्रियों को गुरु नानक देव अस्‍पताल के आइसोलेशन वार्ड शिफ्ट गिए गए

इस फ्लाइट को हीथ्रो एयरपोर्ट से उड़ान भरकर अमृतसर एयरपोर्ट लाने वाले कैप्टन सहित 22 क्रू सदस्यों का भी मंगलवार को कोविड-19 टेस्‍ट करवाया गया। प्राथमिक सूचना के आधार पर कोरोना पाॅजिटिव मिले लोगों को गुरु नानक देव अस्पताल की आइसोलेशन वार्ड में शिफ्ट कर दिया गया है। टेस्ट के नतीजों में देरी होने के चलते जहां एयरपोर्ट के अंदर लंदन से आए यात्रियों ने हंगामा किया तो वहीं दूसरी तरफ इन्हें लेने पहुंचे उनके रिश्तेदारों ने एयरपोर्ट के बाहर पंजाब सरकार और एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया के खिलाफ नारेबाजी की। एयरपोर्ट डायरेक्टर वीके सेठ ने कहा कि यात्रियों की सुविधा के लिए मध्य रात्रि से ही चाय, कॉफी, जूस, पराठा और कुलचे आदि का प्रबंध कर दिया गया था।

कई अन्‍य की रिपोर्ट के एयरपोर्ट पहुंचने के बाद नेगेटिव आए यात्रियों को एयरपोर्ट से बाहर जाने दिया गया। एयरपोर्ट के बाहर खड़े यात्रियों के रिश्तेदारों ने बहुत ही गर्मजोशी के साथ उनका स्वागत किया।  इस बीच कुछ यात्रियों ने कहा कि लंदन में उनके कोविड-19 करवाए गए थे तो फिर यहां उनके कोविड-19 पल लेकर  इस तरह परेशान क्यों किया गया। उन्होंने कहा कि लंदन में कोविड-19 आने के बाद ही उन्हें फ्लाइट में सवार होने दिया गया था। लंदन से लौटे यात्रियों ने कहा आरटी- पीसीटी जांच में 6 से 7 घंटे लगते हैं जबकि उन्हें 12 से 14 घंटे तक एयरपोर्ट के अंदर ही रखा गया।एयरपोर्ट के डायरेक्टर वीके सिंह ने कहा कि कुल 264 लोगों के कोविड-19 के सैंपल की जांच करना पर काफी मुश्किल भरा काम था। एक एक यात्री के नाम और आइडी के साथ उसका कोविड-19 सैंपल मैच करना बहुत ही संवेदनशील काम था, इसके चलते कुछ ज्यादा समय लग गया। उन्होंने बताया कि इस दौरान लंदन से आने वाले सभी यात्रियों के खानपान का खास ध्यान रखा गया।

अमृतसर एयरपोर्ट के अंदर रोके गए यात्रियों ने की नारेबाजी

इससे पहले कई घंटे से एयरपोर्ट पर रोके जाने से क्रुद्ध यात्रियों ने पंजाब सरकार के खिलाफ नारे लगाए। उन्‍होंने कहा कि कहा लंदन में उनका आरटी-पीसीटी टेस्ट हुआ था, तो यहां क्यों करवाया जा रहा है। दूसरी ओर, स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों ने यात्रियों का सैंपल लेकर अमृतसर के सरकारी मेडिकल कॉलेज अस्‍पताल स्थित इन्फ्लूएंजा लैब में भेजा है। इसकी रिपोर्ट करीब दो से तीन बजे के बीच आने की संभावना है। फिलहाल यात्रियों को एयरपोर्ट में ही रखा गया है। स्वास्थ्य विभाग पुलिस की टीमें इनकी निगरानी कर रही है।सिविल सर्जन डॉ आर एस सेठी ने बताया कि वह और उनकी टीम पूरी रात एयरपोर्ट पर ही हैं। टेस्ट रिपोर्ट आने के बाद ही अगली कार्रवाई की जाएगी। जिन लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आएगी उन्हें घर भेज दिया जाएगा, जबकि पॉजिटिव आने वाले मुसाफिरों को सरकारी एकांतवास भेजा जाएगा। लंदन में कोरोना किस स्ट्रेन बदली है। पंजाब में इसे रोकने के लिए कड़े प्रबंध किए गए हैं।

बता दें कि आज तड़के लंदन से एक विशेष विमान आज सुबह अमृतसर के राजासांसी स्थित गुरु श्री रामदास अंतरराष्‍ट्रीय हवाई अड्डे पर पहुंचा। इस विमान में 242 लोग सवार थे। इन लोगों को अभी कोरोना टेस्‍ट से गुजरना पड़ रहा है। इस पूरी प्रक्रिया में करीब छह से आठ घंटे लगते हैं।

अमृतसर के गुरु श्री रामदास अंतरराष्‍ट्रीय एयरपोर्ट के बाहर मौजूद लोग।

अमृतसर जिले के अजनाला के एसडीएम दीपक भाटिया ने बताया कि लंदन में इस विशेष विमान में कुल 242 यात्री सवार हुए। विदेश से भारत पहुंचने पर कोरोना प्रोटोकाल के तहत विमान यात्रियों को कोविड-19 टेस्‍ट (Covid-19 Test) ये गुजरना होता है। ऐसे में लंदन से पहुंचे या‍त्रियों को आरटी-पीसीटी टेस्ट से गुजरना पड़ेगा। इसमें 6-8 घंटे लग सकते हैं और इसके लिए यात्री को हवाई अड्डे पर रहने की आवश्यकता होती है।