नहीं रहे दिग्‍गज कांग्रेस नेता मोतीलाल वोरा, 93 साल की उम्र में निधन, सियासी हस्तियों ने जताई शोक संवेदना

 कांग्रेस के वरिष्‍ठ नेता मोतीलाल वोरा का 93 साल की उम्र में सोमवार को निधन हो गया।


कांग्रेस के वरिष्‍ठ नेता मोतीलाल वोरा का 93 साल की उम्र में सोमवार को निधन हो गया। वह दो बार मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री रहे थे। वोरा 17 साल तक कांग्रेस के कोषाध्यक्ष भी रहे थे। उन्‍होंने रविवार (20 दिसंबर) को ही अपना 93वां जन्मदिन भी मनाया था।

नई दिल्‍ली, एएनआइ। कांग्रेस के वरिष्‍ठ नेता मोतीलाल वोरा (Moti Lal Vohra) का 93 साल की उम्र में सोमवार को निधन हो गया। वह दो बार मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री रहे थे। गांधी परिवार के बेहद करीबी माने जाने वाले वोरा उत्तर प्रदेश के राज्यपाल भी रहे थे। वोरा 17 साल तक कांग्रेस के कोषाध्यक्ष भी रहे थे। उन्‍होंने रविवार (20 दिसंबर) को ही अपना 93वां जन्मदिन भी मनाया था। वोरा दिल्ली के फोर्टिस एस्कॉर्ट अस्पताल (Fortis Escort Hospital) में भर्ती थे। साल 2018 में बढ़ती उम्र का हवाला देते हुए राहुल गांधी ने उनसे कोषाध्‍यक्ष पद की जिम्‍मेदारी ले ली थी। 

मोतीलाल वोरा (Moti Lal Vohra) के निधन पर दिग्‍गज सियासी हस्तियों ने शोक प्रकट किया है। कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने वोरा के निधन पर शोक प्रकट करते हुए कहा कि वोरा जी एक सच्चे कांग्रेसी और अद्भुत इंसान थे। उनके निधन से भारी क्षति हुई है। वह हमें बहुत याद आएंगे। उनके परिवार और दोस्तों के प्रति मेरी संवेदना हैभाजपा नेता ज्‍योतिरादित्‍य सिंधिया ने कहा कि कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व राज्यसभा सांसद मोतीलाल वोरा जी के निधन पर मेरी गहरी संवेदनाए। ईश्वर से प्रार्थना है कि वह दिवंगत आत्मा को शांति प्रदान करें और शोक संतप्‍त परिजनों को यह आघात सहने की शक्ति दे।

वोरा के बाद कोषाध्याक्ष की जिम्मेदारी अहमद पटेल को दी गई थी जिनका 25 नवंबर को निधन हो गया था। अहमद पटेल कांग्रेस के संकटमोचक के तौर पर चर्चित थे। उनको दिग्‍गज रणनीतकार माना जाता था। इन नेताओं का निधन कांग्रेस के लिए किसी बड़े झटके से कम नहीं माना जा रहा है।