दिल्ली के AIIMS में अनिश्चितकालीन हड़ताल पर गईं नर्सें, बढ़ सकती है मरीजों की परेशानी

 गुलेरिया ने बयान जारी कर नर्सें से हड़ताल पर नहीं जाने की अपील की है।


एम्स में कार्यरत नर्सों ने अनिश्चितकालीन हड़ताल की घोषणा की है। ये हड़ताल सोमवार से शुरू हो गई है। नर्स यूनियन की कई मांगे हैं जिसमें छठां वेतन आयोग भी शामिल है। गुलेरिया ने कहा कि महामारी के इस दौर में सच्चे नर्सिंग कर्मचारी हड़ताल नहीं कर सकते।

नई दिल्ली ,एम्स में कार्यरत नर्सों ने अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाने की घोषणा की है। ये हड़ताल सोमवार से शुरू हो गई है। बताया जा रहा है कि नर्स यूनियन की कई मांगे हैं जिसमें छठां वेतन आयोग भी शामिल है। नर्सों के हड़ताल से अस्पताल में भर्ती किए गए मरीजों की परेशानी बढ़ सकती है। वहीं, एम्स के निदेशक डॉ रणदीप गुलेरिया ने बयान जारी कर नर्सें से हड़ताल पर नहीं जाने की अपील की है। गुलेरिया ने कहा कि महामारी के इस दौर में सच्चे नर्सिंग कर्मचारी हड़ताल नहीं कर सकते। उन्होंने कहा कि हड़ताल पर नर्सों को नहीं जाना चाहिए।

मिली जानकारी के अनुसार, नर्सों ने कहा है कि जब तक उनकी मांगें मानी नहीं जाएंगी तब तक हड़ताल जारी रहेगी। फिलहाल एम्स के निदेशक की अपील का असर नर्सों पर दिखाई नहीं दे रहा है।

 

एम्स के निदेशक डॉ रणदीप गुलेरिया ने कहा कि यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि नर्स संघ हड़ताल पर चला गया है। कुछ महीनों में जब कोरोना टीका अभियान शुरू होगा। मैं सभी नर्सों और नर्सिंग अधिकारियों से अपील करता हूं कि वे हड़ताल पर न जाएं और वापस आएं।