बंगाल में जारी राजनीतिक हिंसा के बीच चुनाव आयोग पहुंची भाजपा, कहा- कश्मीर से भी बुरे हालात, जल्द तैनात हों केंद्रीय सुरक्षाबल
हाल ही में भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा के काफिले पर हुआ था हमला

पश्चिम बंगाल में हो रही राजनीतिक हिंसा को लेकर भाजपा ने चुनाव आयोग को दो पेज का ज्ञापन सौंपा है। इसमें भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा के काफिले पर हमले समेत कई अन्य घटनाओं को शामिल किया गया है।

नई दिल्ली, आइएएनएस। पश्चिम बंगाल में हो रही राजनीति अब और ज्यादा गर्मा गई है। भारतीय जनता पार्टी आज चुनाव आयोग के पास पहुंची है। भाजपा ने चुनाव आयोग से पश्चिम बंगाल में जनप्रतिनिधित्व कानून की धारा 15 को लागू करने का आग्रह किया है। प्रदेश में राजनीतिक हिंसा को रोकने के लिए भाजपा ने चुनाव आयोग से यह मांग की है। राज्य में हो रही राजनीतिक हिंसा को लेकर भाजपा ने चुनाव आयोग को दो पेज का ज्ञापन सौंपा है। इसमें यह भी कहा गया कि राज्य के हालात कश्मीर से भी ज्यादा खराब हैं। यहां कभी भी किसी भी नेता पर हमला हो सकता है। चुनाव आयोग को सौंपे गए ज्ञापन पत्र में भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा के काफिले पर हमले समेत कई अन्य घटनाओं को शामिल किया गया है।

बंगाल भाजपा ने चुनाव आयोग से आग्रह किया है कि राज्य में आदर्श आचार संहिता को जल्द ही लागू किया जाए। हालांकि आम तौर पर चुनाव की तारीखों की घोषणा होने के बाद ही यह लागू की जाती है।भाजपा सांसद स्वपन दासगुप्ता के नेतृत्व में प्रतिनिधिमंडल ने कानून व्यवस्था की स्थिति और राजनीतिक पूर्वाग्रह का हवाला देते हुए चुनाव आयोग को ज्ञापन सौंपते हुए राज्य में जल्द ही केंद्रीय सुरक्षाबलों के तैनाती की भी मांग की है।

जल्द ही केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह करने वाले हैं पश्चिम बंगाल का दौरा

बता दें कि केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह जल्द ही बंगाल का दौरा करने वाले हैं। इसी के चलते भाजपा राज्य में राजनीतिक हिंसा कि घटनाओं पर एक्शन लेने के लिए चुनाव आयोग से मांग की है।गौरतलब है कि पश्चिम बंगाल में अगले साल के शुरू में विधानसभा के चुनाव होने हैं। भारतीय जनता पार्टी को उम्मीद है कि पिछले लोकसभा में उसकी सफलता के बाद वह बंगाल में टीएमसी को करारी शिकस्त देकर राज्य में बड़ा उलटफेर कर सकती है।