क्राइम ब्रांच अधिकारी बनकर लोगों से ठगी करने वाले दो बदमाश गिरफ्तार

 आरोपितों पर पहले से दर्ज हैं कई मुकदमे।


बदमाशों की पहचान मध्य प्रदेश निवासी मासूम अली व अकबर अली के रूप में हुई है। दोनों ईरानी गिरोह के सदस्य हैं और उनपर दिल्ली में कई मुकदमे दर्ज हैं। पुलिस ने बदमाशों के पास से दो मोटरसाइकिल और 40 हजार रुपए बरामद किए हैं।

नई दिल्ली। मध्य जिला पुलिस ने क्राइम ब्रांच और पुलिस अधिकारी बनकर लोगों से ठगी करने वाले दो बदमाशों को गिरफ्तार किया है। बदमाशों की पहचान मध्य प्रदेश निवासी मासूम अली व अकबर अली के रूप में हुई है। दोनों ईरानी गिरोह के सदस्य हैं और उनपर दिल्ली में कई मुकदमे दर्ज हैं। पुलिस ने बदमाशों के पास से दो मोटरसाइकिल और 40 हजार रुपए बरामद किए हैं। उनकी गिरफ्तारी से पुलिस ने देशबंधु गुप्ता रोड थाना इलाके में हुई ढाई लाख रुपये की ठगी का मामला सुलझा लिया है।

मध्य जिले के डीसीपी संजय भाटिया ने बताया कि नांगलोई निवासी अजय सन्नी अरोड़ा नाम के कारोबारी के पास सुपरवाइजर की नौकरी कर रहे हैं। सन्नी अरोड़ा ने नौ दिसंबर को उन्हें आर्य समाज रोड करोल बाग से चार लाख रुपये लाने को भेजा था। उक्त रुपये लॉरेंस रोड इलाके में एक शख्स को देने थे। अजय जैसे ही रुपये लेकर अजमल खां रोड इलाके में पर पहुंचे थे। मोटरसाइकिल से आए दो लोगों ने उन्हें रोक लिया और खुद को पुलिसकर्मी बताकर उनके बैग की तलाशी करने लगे थे। बदमाशों के कहा था कि सुरक्षा के तहत वह लोगों की जांच कर रहे हैं। इसी दौरान ठगों ने ध्यान भटकाए बैग से ढाई लाख रुपये उड़ा लिए।

जांच के बाद अजय को बैग दे दिया और बदमाश वहां से फरार हो गए थे। बाद में जब पीड़ित ने बैग की जांच की तो पाया कि उसमें रखे ढाई लाख रुपए गायब हैं। इसके बाद देशबंधु गुप्ता रोड थाना एसएचओ मधुकर राकेश, शीदीपुरा पुलिस चौकी इंचार्ज संदीप गोदारा सहित कांस्टेबल प्रवीण और अतुल की टीम ने घटनास्थल के समीप लगे सीसीटीवी कैमरे की फुटेज से बदमाशों की पहचान की। बाद में दोनों को शुक्रवार को इलाके से धर दबोचा गया। उनकी निशानदेही पर ठगी के 40 हजार रुपये भी बरामद किए गए।आरोपियों ने पूछताछ में बताया कि शक न हो इसके लिए वे ब्रांडेड कपड़े पहचनते थे और ठगी के रुपये से मौजमस्ती करते थे। आरोपित अबकर अली पर बारह जबकि मासूम अली पर पहले से चार मुकदमे दर्ज हैं।