प्रधानमंत्री के फर्जी हस्ताक्षर का नियुक्ति पत्र दिखाने वाला गिरफ्तार, एनटीपीसी का अधिकारी बताकर शादी की थी

 प्रधानमंत्री के फर्जी हस्ताक्षर का नियुक्ति पत्र दिखाने वाला गिरफ्तार

पुलिस ने बताया कि अमित शर्मा ने अलवर की एक युवती से साल2018 में शादी की थी। शादी से पहले अमित शर्मा ने युवती के परिजनों को खुद को एनटीपीसी में बड़ा अधिकारी बताया था। उसने नियुक्ति वाला प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के फर्जी हस्ताक्षरयुक्त लेटपेड भी दिखाया था।

जयपुर, संवाददाता। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के फर्जी हस्ताक्षर कर फर्जी तरीके से नियुक्ति के आदेश दिखाकर शादी करने वाले महाराष्ट्र में नासिक निवासी अमित शर्मा को अलवर की कोतवाली पुलिस ने गिरफ्तार किया है। अमित शर्मा नासिक के चेतना नगर में ओमसाई प्लेस के पास का रहने वाला है। इस मामले की जांच सीआईडी, सीबी की जयपुर टीम कर रही थी। जांच के बाद फाइल अलवर पुलिस को सौंपी गई थी। इस पर अलवर पुलिस ने अमित शर्मा को गिरफ्तार किया है।

पुलिस ने बताया कि अमित शर्मा ने अलवर की एक युवती से साल, 2018 में शादी की थी। शादी से पहले अमित शर्मा ने युवती के परिजनों को खुद को एनटीपीसी में बड़ा अधिकारी बताया था। उसने नियुक्ति वाला प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के फर्जी हस्ताक्षरयुक्त लेटपेड भी दिखाया था। शादी के बाद असलियत सामने आने पर महिला और उसके परिजनों ने अलवर के कोतवाली पुलिस थाने में मामला दर्ज कराया था। अमित शर्मा द्वारा दिए गए प्रधानमंत्री के लेटरपेड के बारे में जानकारी ली गई तो वह फर्जी निकला।

इस पर शिकायत प्रधानमंत्री कार्यालय को भेजी गई। 8 मई, 2018 को प्रधानमंत्री कार्यालय के सहायक निदेशक पी.के.इसर ने प्रदेश के पुलिस महानिदेशक को पत्र लिखकर मामले के बारे में बताया। इस पर मुकदमा दर्ज कर जांच सीआईडी, सीबी को सौंपी गई। सीआईडी,सीबी ने अलवर पुलिस को मामले की फाइल भेजी। इस पर अलवर की कोतवाली पुलिस ने अमित शर्मा ने रविवार को गिरफ्तार कर लिया। वह मूल रूप से नासिक का रहने वाला था, लेकिन लंबे समय से अलवर में रह रहा था।