चिल्ला बॉर्डर पर धरने पर बैठे किसानों में बड़ी फूट, सैकड़ों लोगों ने दिया इस्तीफा

नेताओं में अब आपसी गुटबाजी सामने आ रही है।
 केंद्रीय मंत्रियों के साथ हुई वार्ता के बाद शीर्ष नेताओं द्वारा नोएडा से दिल्ली जाने का रास्ता खुलवाले से नाराज संगठन के कई किसान नेताओं और कार्यकर्ताओं ने अपने पद से इस्तीफा दिया है।

नोएडा । दिल्ली से सटे नोएडा सेक्टर 14 ए स्थित चिल्ला बॉर्डर पर पिछले 14 दिनों से धरना दे रहे भारतीय किसान यूनियन (भानु) के नेताओं में अब आपसी गुटबाजी सामने आ रही है। केंद्रीय मंत्रियों के साथ हुई वार्ता के बाद शीर्ष नेताओं द्वारा नोएडा से दिल्ली जाने का रास्ता खुलवाले से नाराज संगठन के कई किसान नेताओं और कार्यकर्ताओं ने अपने पद से इस्तीफा दिया है। 

इन्होंने दिया इस्तीफा

  • राष्ट्रीय महासचिव बेगराज गुर्जर
  • प्रदेश महामंत्री बीसी प्रधान
  • जिला संयोजक रामकेश गुर्जर
  • प्रदेश अध्यक्ष विधि प्रकोष्ठ लाटसाहब लोहिया
  • युवा मोर्चा उपाध्यक्ष विकास गुर्जर
  • नोएडा महानगर अध्यक्ष अरुण शर्मा
  • जिला महासचिव सुभाष भाटी
  • नोएडा संयोजक प्रेमसिंह भाटी
  • जिला उपाध्यक्ष सुंदर बाबा
  • युवा मोर्चा नोएडा अध्यक्ष कौशेंदेर यादव
  • रजबीर मुखिया (जिला सचिव)
  • नोएडा उपाध्यक्ष मांगेराम शर्मा
  • ओमप्रकाश गुर्जर, ज़िलाध्यक्ष ( परिवहन प्रकोष्ठ )
  • नोएडा उपाध्यक्ष संतराम अवाना
  • गजराज नंबरदार अध्यक्ष ब्लॉक बिसरख
  • रहीसुद्दीन नोएडा सचिव
  • कपिल भाटी जिला सचिव युवा मोर्चा
  • अनिल कुमार ग्राम अध्यक्ष गिझोड
  • लोकेश पीलवान सचिव
  • ओमप्रकाश कपासिया
  • अनिल बैसोया
  • महेश तंवर
  • ऊधम नंबरदार
  • आमोद भाटी
  • सिंघराज भाटी
  • विकास भाटी
  • प्रोफ़ेसर धर्मेंद्र भाटी
  • नीतिराज आगाहपूर
  • करमबीर गुर्जर मीडिया प्रभारी
  • सुनील नागर
  • नीरज भाटी
  • कमल कसाना
  • पवन भाटी
  • पदम नागर
  • बाबू चंदेल
  • संजय ठेकेदार
  • तेजबीर यादव
  • संदीप यादव
  • केशर मुखिया
  • राहुल यादव
  • विजय यादव
  • सोनू कश्यप
  • मोहित यादव
  • सन्नी यादव
  • मामराज
  • मेनपाल प्रधान आदि नेताओं ने इस्तीफा दिया है।

किसान हितों में धरना आगे भी रहेगा जारी

पूरे मामले पर प्रदेश अध्यक्ष योगेश प्रताप सिंह ने बताया कि जिन नेताओं ने धरना स्थल पर इस्तीफा दिया है। वह पहले दिन से धरना स्थल पर मौजूद नहीं थे। ऐसे लोगों के जाने से संगठन कमजोर नहीं पड़ेगा। भानु का धरना आगे भी जारी रहेगा।

कुछ लोग कर रहे आंदोलन को कमजोर

उधर, इस्तीफा देने वाले ने राष्ट्रीय महासचिव रहे बेगराज गुर्जर ने बताया कि हम दिल्ली कूच करना चाहते थे, लेकिन शीर्ष नेतृत्व यह मानने को तैयार नहीं है। उन्होंने बताया कि आंदोलन की लड़ाई कमजोर होने पर अपने पद से इस्तीफा दिया है।