भारत को राहुल गांधी जैसे नेता की जरूरत, बनाया जाए पार्टी का अध्यक्ष - तेलंगाना कांग्रेस

 

कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी और राहुल गांधी
कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी को लिखे एक पत्र में तेलंगाना प्रदेश कांग्रेस कमेटी (टीपीसीसी) के नेताओं ने राहुल गांधी पर विश्वास जताते हुए कहा है कि केवल वे ही भारत में लोकतंत्र को बहाल कर सकते हैं।

हैदराबाद, एएनआइ। कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी को लिखे एक पत्र में, तेलंगाना प्रदेश कांग्रेस कमेटी (टीपीसीसी) के नेताओं ने राहुल गांधी पर विश्वास जताते हुए कहा है कि केवल वे ही भारत में लोकतंत्र को 'बहाल' कर सकते हैं। टीपीसीसी नेताओं ने 20 दिसंबर को लिखे पत्र में 'चिंतन बैठक' के लिए सहमत होने के लिए सोनिया को धन्यवाद दिया। एक संकट के दौरान पार्टी के महत्व पर जोर देते हुए, तेलंगाना कांग्रेस के नेताओं ने देश में 'राजनीतिक संकट' से निपटने को लेकर अपनी राय दी और कहा कि राहुल जैसे पूरे भारत को स्वीकार्य नेता को कांग्रेस का अध्यक्ष होना चाहिए।

पत्र में कहा गया कि 'चिंतन बैठक' की सहमति के लिए हम आपके (सोनिया गांधी) आभारी हैं। हम कांग्रेस पार्टी द्वारा उन्हें सौंपी गई किसी भी जिम्मेदारी को स्वीकार करने के लिए विशेष रूप से राहुल गांधी के आभारी हैं। हमारी राय है कि राहुल गांधी केवल ऐसे नेता हैं, जो भारत में लोकतंत्र बहाल कर सकते हैं। इसमें यह भी कहा गया कि देश वर्तमान में किसान आंदोलन, कोरोना वायरस महामारी की स्थिति, बेरोजगारी, 'तानाशाही शासन' जैसे संकटों से जूझ रहा है। इस समय पूरे भारत को स्वीकार्य राहुल गांधी जैसे नेता को कांग्रेस का अध्यक्ष बनना चाहिए।

पत्र में आगे कहा गया कि वर्तमान में देश राजनीतिक संकटों से जूझ रहा है। जब भी देश संकट में होता है, कांग्रेस पार्टी उसको बचाती है। इससे पहले शनिवार को, दिल्ली में सोनिया गांधी के निवास पर कांग्रेस पार्टी की एक बैठक आयोजित की गई थी। इसमें उन 23 नेताओं में से कुछ ने भाग लिया था, जिन्होंने पार्टी में व्यापक बदलाव लाने की मांग की है। पार्टी के नेताओं की राय थी कि कांग्रेस को आगे बढ़ाने के लिए राहुल का नेतृत्व आवश्यक है और चुनौतियों पर चर्चा के लिए जल्द ही एक 'चिंतन शिविर' का आयोजन किया जाएगा।

पांच घंटे चली बैठक के बाद मीडिया से बात करते हुए पूर्व केंद्रीय मंत्री पवन बंसल ने कहा था कि नेताओं का मानना है कि पार्टी को राहुल गांधी के नेतृत्व की जरूरत है। सभी ने कहा कि पार्टी को राहुल गांधी के नेतृत्व की जरूरत है और हमें उन लोगों की परवाह नहीं करनी चाहिए जो एजेंडा से ध्यान हटाना चाहते हैं। बैठक में सोनिया गांधी सहित कुल 19 नेता मौजूद थे। सोनिया गांधी ने कांग्रेस को एक परिवार की तरह बताया और कहा कि हम एक परिवार के रूप में एक साथ काम करेंगे।