ब्रिटेन में मिला कोरोना का नया स्ट्रेन तेजी से फैला रहा, लेकिन जानलेवा नहीं लग रहा- विवेक मूर्ति

 

बाइडन की स्वास्थ्य टीम में सर्जन जनरल भारतीय अमेरिकी डॉक्‍टर विवेक मूर्ति।
ब्रिटेन में मिला कोरोना का नया स्ट्रेन जानलेवा नहीं लग रहा है। हालांकि यह तेजी से फैल रहा है। भारतीय अमेरिकी डॉक्‍टर विवेक मूर्ति ने यह बात कही है। उन्हें अमेरिका के नवनिर्वाचित राष्‍ट्रपति जो बाइडन की स्वास्थ्य टीम में सर्जन जनरल नियुक्त किया गया है।

वाशिंगटन, आइएएनएस। ब्रिटेन में मिला कोरोना का नया स्ट्रेन जानलेवा नहीं लग रहा है। हालांकि, यह तेजी से फैल रहा है। अमेरिका के नवनिर्वाचित राष्‍ट्रपति जो बाइडन की स्वास्थ्य टीम में सर्जन जनरल के तौर पर नियुक्त भारतीय अमेरिकी डॉक्‍टर विवेक मूर्ति ने यह बात कही है। उन्होंने कहा कि नया स्ट्रेन तेजी से फैलने वाला लगता है, लेकिन हमारे पास अभी तक इस बात के प्रमाण नहीं हैं कि यह ज्यादा घातक है। इस बात का भी कोई सबूत नहीं है कि कोरोना की वैक्सीन इसके खिलाफ कम प्रभावी होंगी।

विवेक मूर्ति ने एनबीसी न्यूज से रविवार को कहा कि अगर आप घर पर हैं और आप यह खबर सुन रहे हैं, तो इस लब्बोलुआब यह है कि वायरस फैलने से रोकने के लिए जो सावधानियों हम बरतते हैं, उसमें कोई बदलाव नहीं है। कोरोना को फैलने से रोकने के लिए अभी भी मास्क पहनने, शारीरिक दूरी बनाए रखने और हाथ साफ करते रहना आवश्यक है।

कई देशों ने ब्रिटेन आने जाने वाले विमानों पर रोक लगाने की घोषणा की

19 दिसंबर को, ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने कोरोना वायरस के नए स्ट्रेन को लेकर चेतावनी दी। यह काफी तेजी से लंदन और दक्षिण-पूर्व इंग्लैंड में तेजी से फैल रहा है। 9 दिसंबर को समाप्त हुए सप्ताह में, नए स्ट्रेन का लंदन में 62 प्रतिशत, पूर्वी इंग्लैंड में 59 प्रतिशत और दक्षिण पूर्व में 43 प्रतिशत मामले थे। ब्रिटेन के स्वास्थ्य सचिव मैट हैनकॉक के अनुसार, कोरोना वायरस का नया स्ट्रेन  'नियंत्रण से बाहर' है। इसके कारण, कनाडा, फ्रांस, जर्मनी, इटली, बेल्जियम और सऊदी अरब सहित कई देशों ने ब्रिटेन आने जाने वाले यात्री विमानों पर रोक लगाने की घोषणा कर दी है। जापान और दक्षिण कोरिया सहित एशियाई देशों ने कहा कि वे ब्रिटेन में पहचाने गए नए कोरोना वायरस स्ट्रेन पर बारीकी से नजर रख रहे हैं, लेकिन किसी ने अभी तक ब्रिटेन से आने जाने वाली उड़ानों को रद नहीं किया है।