लूटपाट का विरोध करने पर बदमाशों ने कलेक्शन एजेंट को गोली मारी, मौत

 पुलिस मुकदमा दर्ज कर बदमाशों की तलाश में जुटी।


विकास ने लूटपाट का विरोध किया तो बदमाश ने उन्हें गोली मार दी और रुपयों से भरा बैग लेकर मौके से फरार हो गए। बैग में एक लाख से ज्यादा रुपये थे। लोगों ने घटना की सूचना पुलिस को दी। वहीं घायल विकास को नजदीकी अस्पताल ले जाया गया।

नई दिल्ली। गुलाबी बाग इलाके में लूटपाट का विरोध करने पर बदमाशों ने दिनदहाड़े कलेक्शन एजेंट को गोली मार दी। वहीं बाद में वे रुपये से भरा बैग लेकर फरार हो गए। वारदात के बाद घायल कलेक्शन एजेंट को अस्पताल ले जाया गया। वहां डाक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। मरने वाले की पहचान नरेला निवासी विकास के रूप में हुई है। उधर गुलाबी बाग थाना पुलिस मुकदमा दर्ज कर बदमाशों की तलाश में जुट गई है। बदमाशों की पहचान के लिए पुलिस घटना स्थल के समीप लगे सीसीटीवी कैमरे की फुटेज को खंगाल रही है।  

पुलिस अधिकारी के मुताबिक नरेला के रहने वाले विकास मंगोलपुरी स्थित एक जूते की फैक्टरी में काम करते थे। वह कंपनी के लिए नकदी लाते और ले जाते थे। विकास शुक्रवार को कंपनी का नकदी लाने गए थे। दोपहर करीब सवा दो बजे वे नकदी लेकर मोटरसाइकिल से अपनी कंपनी वापस लौट रहा था। इसी बीच वे जैसे ही  प्रताप नगर मेट्रो स्टेशन के समीप पहुंचे अचानक मोटरसाइकिल पर आए चार बदमाशों ने उन्हें घेर लिया। बदमाशों ने पिस्टल दिखाकर कलेक्शन एजेंट से रुपये से भरा बैग मांगा।

विकास ने लूटपाट का विरोध किया तो बदमाश ने उन्हें गोली मार दी और रुपयों से भरा बैग लेकर मौके से फरार हो गए। बैग में एक लाख से ज्यादा रुपये थे। बाद में लोगों ने घटना की सूचना पुलिस को दी। वहीं, घायल विकास को नजदीकी अस्पताल ले जाया गया। लेकिन तब तक उनकी मौत हो चुकी थी। पुलिस अधिकारी ने बताया कि वारदात में किसी जानकार की भूमिका हो सकती है। लिहाजा पुलिस कंपनी के कर्मचारियों से पूछताछ कर रही है। वैसे पुलिस को बदमाशों के बारे में कुछ सुराग हाथ लगे हैं। उसके आधार पर आरोपितों को जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा।