पाकिस्तान: लाहौर के बाद अब लरकाना में विपक्ष की रैली

 पाकिस्तान: लाहौर के बाद अब लरकाना में विपक्ष की रैली।


पाकिस्तान सरकार के एड़ी-चोटी का जोर लगाने के बाद भी लाहौर रैली को न रोक पाने से विपक्षियों के हौसले बुलंद हैं। विरोध के दूसरे चरण में अब 11 विपक्षी दलों के गठबंधन पाकिस्तान डेमोक्रेटिक मूवमेंट (पीडीएएम) ने लरकाना में अगली रैली की तैयारी शुरू कर दी है।

लाहौर, एएनआइ। पाकिस्तान सरकार के एड़ी-चोटी का जोर लगाने के बाद भी लाहौर रैली को न रोक पाने से विपक्षियों के हौसले बुलंद हैं। विरोध के दूसरे चरण में अब 11 विपक्षी दलों के गठबंधन पाकिस्तान डेमोक्रेटिक मूवमेंट (पीडीएएम) ने लरकाना में अगली रैली की तैयारी शुरू कर दी है।

इसके बाद विपक्षी दल जनवरी के अंत में राजधानी इस्लामाबाद घेरेंगे। पाकिस्तान में सरकार की लाख कोशिशों के बाद भी लाहौर के मीनार-ए-पाकिस्तान मैदान में विपक्षी गठबंधन ने रैली की। रैली पर सरकार की पाबंदी के बाद भी हजारों की भीड़ जुटी। अब विपक्षियों ने सरकार को घेरने के लिए अपनी अगली तैयारियों को अंजाम देना शुरू कर दिया है। इस संबंध में सभी नेताओं की बैठक हो रही है, जिसमें लरकाना की रैली की तैयारियों पर बात की जाएगी। बैठक में जमीअत उलेमा-ए-इस्लाम के प्रमुख फजलुर रहमान, पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज की उपाध्यक्ष मरयम नवाज, पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी के प्रमुख बिलावल भुट्टो जरदारी व अन्य नेता भाग लेंगे।

विपक्षी दलों ने इस्लामाबाद को घेरने की भी योजना बनाई है। लाहौर रैली में संबोधित करते हुए पीएमएल-एन की नेता मरयम नवाज ने कहा कि अब इस्लामाबाद की ओर कूच किया जाएगा। पीपीपी नेता बिलावल भुट्टो ने कहा कि अब राजधानी पर कब्जा किया जाएगा। गठबंधन के प्रमुख फजलुर रहमान ने साफ किया कि इस्लामाबाद कूच जनवरी के अंत या फरवरी के शुरू में होगा। लाहौर के मीनार-ए-पाकिस्तान मैदान में मरयम नवाज ने पहली बार रैली की है, जबकि बिलावल भुट्टो से पहले 1986 में उनकी मां बेनजीर भुट्टो ने यहां संबोधन किया था।