मुंबईवासियों के लिए खुशखबरी, 1 फरवरी से आम लोगों के लिए पटरी पर दौड़ेगी मुंबई लोकल


1 फरवरी से मुंबई लोकल ट्रेन सेवा सभी नागरिकों के लिए उपलब्‍ध रहेगी।
1 फरवरी से मुंबई लोकल ट्रेन सेवा मुंबई के सभी नागरिकों के लिए उपलब्‍ध रहेगी आम लोगों के लिए पहले ये सेवा 29 जनवरी से शुरू करने पर विचार किया गया था। सरकार के इस फैसले से आम लोगों को काफी राहत महसूस होगी।

मुंबई, पीटीआइ। मुंबई की लाइफलाइन कहलाने वाली लोकल रेल सेवा (Local Train Service) को लेकर एक बड़ी खबर सामने आई है। 1 फरवरी से मुंबई लोकल पूरी क्षमता के साथ पटरियों पर दौड़ सकेगी।आम नागरिकों के लिए लोकल ट्रेन सेवा, पहली सेवा से सुबह 7 बजे तक,  दोपहर 12 बजे से शाम 4 बजे तक और रात 9 बजे ये दिन की आखिरी ट्रेन तक उपलब्‍ध रहेगी। हालांकि पहले ये जानकारी दी गई थी कि आम लोगों के लिए मुंबई लोकल रेल सेवा 29 जनवरी से शुरू हो जाएगी। पहले वेस्टर्न रेलवे की इन लोकल रेल में सिर्फआवश्‍यक सेवाओं से जुड़े लोग को ही सफर करने की अनुमति दी गई थी। जिससे आम नागरिकों में बेहद निराशा थी। लेकिन अब लोकल ट्रेन में आम नागरिक भी यात्रा कर पाएंगे। 

 पश्चिम रेलवे और मध्य रेलवे ने बीती 27 जनवरी को मुंबई उपनगरीय नेटवर्क पर मौजूदा 2,781 सेवाओं को बढ़ाकर 2,985 सेवाओं के साथ सभी उपनगरीय सेवाओं को शुरू करने का फैसला किया था। वहीं मध्य रेलवे ने उपनगरीय सेवाओं को मौजूदा 1,580 से 1,685 सेवाओं तक बढ़ाने का निर्णय लिया था और 29 जनवरी से पश्चिमी रेलवे ने  प्रभावी 1,201 उपनगरीय सेवाओं को 1,300 सेवाओं तक बढ़ाने का निर्णय लिया था, इसे लेकर दोनों क्षेत्रों के सीपीआरओ ने ये सूचना जारी की थी । 

देवेंद्र फड़नवीस ने राम मंदिर के निर्माण के लिए 100001 रुपये का दिया चेक। फाइल फोटो
यह भी पढ़ेंकोरोना महामारी के कारण पहले रेल मंत्रालय और महाराष्ट्र सरकार द्वारा अनुमति प्राप्त यात्रियों को केवल उपनगरीय ट्रेनों में यात्रा करने की अनुमति दी गई थी। जबकि अन्य लोगों से कहा गया था कि वे रेलवे स्टेशनों पर जाकर भीड़ न लगाये। कोरोना महामारी के कारण लोकल ट्रेन सेवा पर राज्‍य सरकार ने प्रतिबंध लगाया था।  लेकिन अब आम लोगों को भी सरकार ने रेल में यात्रा की छूट दे दी है। बता दें कि  मुंबई की लाइफलाइन के नाम से मशहूर लोकल रेल सेवा से  हर दिन 85 लाख यात्री सफर कर अपने गंतव्‍यों तक पहुंचते हैं। प्रत्‍येक दिन 3200 रेल अपनी सेवाएं देती हैं।