पंजाब में 1 फरवरी से खुल जाएंगे सभी प्राइमरी स्कूल, कोविड नियमों का करना होगा पालन

 चंडीगढ़। कोविड के कारण बंद पड़े पंजाब के प्राइमरी स्कूल 1 फरवरी से खुल जाएंगे। 1 रवरी से प्री-प्राईमरी, पहली और दूसरी कक्षा का शिक्षण कार्य शुरू हो जाएगा। अभी तक इन कक्षाओं में शिक्षण कार्य शुरू नहीं हो पाया था। पंजाब के शिक्षा मंत्री विजय इंदर सिंगला ने कहा कि मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह की सहमति के बाद यह फैसला लिया गया है। इससे पहले प्रथम चरण में नौवीं से बारहवीं, दूसरे चरण में पांंचवी से आठवीं और फिर तीसरे चरण में तीसरी व चौथी क्लास शुरू चुकी हैं।School Reopen News पंजाब में प्री प्राइमरी और प्राइमरी की कक्षाएं 1 फरवरी से शुरू हो जाएंगी। कोविड के कारण लंबे समय से राज्य में स्कूल बंद थे। चौथी व पांचवींं की कक्षाएं पहले ही शुरू की जा चुकी हैं।विजय इंदर सिंगला ने कहा कि अभिभावकों की तरफ से मिले समर्थन के बाद शिक्षा विभाग की तरफ से चरणबद्ध तरीके से खोले गए स्कूलों में कोविड-19 महामारी संबंधी पंजाब सरकार हिदायतों का पालन किया जा रहा है।उन्होंने कहा कि विभाग की तरफ से स्कूलों में बच्चों की सुरक्षा यकीनी बनाने के लिए हिदायतें भी जारी की जा चुकी हैं।विजय इंदर सिंगला ने विभागीय अधिकारियों और स्कूल प्रबंधकों को हिदायत जारी करते हुए कहा कि 1 फरवरी से लगने जा रहे प्री-प्राईमरी, पहली और दूसरी कक्षाओं केे विद्यार्थी आयु में छोटे होते हैं। इस कारण इन बच्चों का स्कूल अध्यापकों और स्कूल मुखियों की तरफ से अधिक प्राथमिकता देकर ध्यान रखा जाए। उन्होंने कहा कि बच्चों की आपसी दूरी का ध्यान रखकर सिटिंग प्लान तैयार करना, मास्क का प्रयोग करना, थोड़े समय के अंतराल के साथ बार-बार हाथों को धोने या सेेनिटाइज करने आदि संबंधी बार -बार जागरूक करना यकीनी बनाया जाना चाहिए।सिंगला ने कहा कि पंजाब सरकार विद्यार्थियों और अध्यापकों की सुरक्षा के प्रति संजीदा है, इसलिए अधिकारियों को हिदायतें भी दी गई हैं कि शिक्षा सुधार टीमें और अन्य शिक्षा अधिकारी जब भी फील्ड में जाएं तो उस समय स्कूल प्रमुखों को कोविड-19 से सुरक्षित रहने के लिए जारी नियमों का सख्ती के साथ पालन करने को कहें। गांवों में जागरूकता अभियान चलाएं।