2020 की रिपोर्ट इमरान सरकार के लिए बनी बड़ी मुसीबत, भ्रष्‍टाचार के मामले में जाने भारत और पड़ोसी मुल्‍कों का हाल

 

CPI-2020 की रिपोर्ट इमरान खान ने लिए बनी बड़ी मुसीबत। फाइल फोटो।


इस्‍लामाबाद ऑनलाइन डेस्‍क।
 ट्रांसपेरेंसी इंटरनैशनल की भ्रष्‍टाचार से जुड़ी एक ताजा रिपोर्ट से पाकिस्‍तान की सियासत गरमा गई है। इस रिपोर्ट में दुनिया के 180 देशों की रैंकिंग में पाकिस्‍तान 124वं पायदान पर पहुंच गया है। कर्ज में डूबे पाकिस्‍तान की भ्रष्‍टाचार के मामले में स्थिति पूर्व से भी बद्तर हो गई है। विपक्ष ने इसके लिए पाकिस्‍तान की मौजूदा इमरान सरकार को जिम्‍मेदार ठहराया है। इस रिपोर्ट के बाद पाकिस्‍तान में एकजुट विपक्ष ने प्रधानमंत्री इमरान खान के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। आइए जानते हैं कि ट्रांसपैंरसी इंटरनैशनल की 180 देशों की लिस्‍ट में भारत की क्‍या स्थिति है। इसके साथ भारत के मुकाबले चीन, पाकिस्‍तान और बांग्‍लादेश की क्‍या स्थिति है। ट्रांसपेरेंसी इंटरनैशनल की भ्रष्‍टाचार से जुड़ी एक ताजा रिपोर्ट से पाकिस्‍तान की सियासत गरमा गई है। आइए जानते हैं कि ट्रांसपैंरसी इंटरनेशनल की 180 देशों की लिस्‍ट में भारत की क्‍या स्थिति है। इसके साथ भारत के मुकाबले चीन पाकिस्‍तान और बांग्‍लादेश की क्‍या स्थिति है।

चीन से नौ पायदान नीचे है भारत

ट्रांसपैरेंसी इंटरनैशनल की ताजा रिपोर्ट में भारत 86वें पायदान पर है। वहीं भारत के पड़ोसी देश चीन 78वें स्‍थान पर है। चीन भारत से नौ पायदान ऊपर है। भ्रष्‍टाचार को रोकने के मामले में चीन, भारत से आगे है। भारत के पड़ोसी मुल्‍क पाकिस्‍तान और बांग्‍लादेश की स्थिति काफी नाजुक है। इस तालिका में पाकिस्‍तान 124वें पायदान पर है। बांग्‍लादेश 146वें स्‍थान पर है। हर मौके पर भारत से तुलना करने वाला पाकिस्‍तान भ्रष्‍टाचार के मामले भारत से कहीं आगे है। इस लिहाज से तालिका में भारत अपने पड़ोसी मुल्‍क पाकिस्‍तान और बांग्‍लादेश से अच्‍छी स्थिति में है।  

विपक्ष ने इमरान सरकार को दिखाया आइना

उधर, देश में भ्रष्‍टाचार के खात्‍मे का वादा करके सत्‍ता में आए इमरान खान पर विपक्ष ने जोरदार हमला बोला है। विपक्षी दलों ने कहा कि पाकिस्‍तान वर्ष 2020 और वर्ष 2019 में 120 वें स्‍थान पर था और अब यह 124वें स्‍थान पर पहुंच गया है। यही नहीं वर्ष 2018 से तुलना करें तो इमरान का नया पाकिस्‍तान 7 पायदान नीचे चला गया है। बिलावल भुट्टों की पार्टी पीपीपी की नेता शेरी रहमान ने इमरान खान पर निशाना साधा। उन्‍होंने कहा कि इमरान खान भ्रष्‍टाचार के खात्‍मे का दावा करते हैं, लेकिन उनका दावा झूठा है।

शेरी रहमान ने इमरान सरकार के कामकाज पर सवाल खड़े किए हैं। उन्‍होंने कहा कि इमरान के कार्यकाल में भ्रष्‍टाचार लगातार बढ़ रहा है। उनके कार्यकाल में पाकिस्‍तान ग्‍लोबल करप्‍शन इंडेक्‍स में लगातार नीचे जा रहा है। रहमान ने कहा कि इमरान जब से पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री बने हैं तब से देश भ्रष्‍टाचार के मामले में नीचे आ रहा है। उन्‍होंने कहा कि मौजूद सरका को पूरा ध्‍यान राजनीतिक विरोधियों के दमन पर टिकी है। उनकी दिलचस्‍पी देश में बढ़ रहे भ्रष्‍टाचार को रोकने में कतई नहीं है। शेरी रहमान ने कहा कि इमरान को अब सत्‍ता में रहने का नैतिक हक नहीं है।

क्‍या है ट्रांसपैरेंसी इंटरनैशनल

गौरतलब है कि अंतरराष्ट्रीय संस्था ट्रांसपैरेंसी इंटरनैशनल हर साल देशों  करप्‍शन का इंडेक्‍स तैयार करती है। ट्रांसपैरेंसी इंटरनैशनल ने इस बार के मापदंडों में कोविड-19 महामारी से निपटने के दौरान हुए भ्रष्टाचार पर विशेष जोर दिया। संस्था की चेयरपर्सन डेलिया फरेरिया रूबियो ने कहा, कोराना वायरस सिर्फ स्वास्थ्य और आर्थिक संकट नहीं है। यह भ्रष्टाचार संकट भी है, जिससे हम फिलहाल निपटने में असफल साबित हो रहे हैं।