दिल्ली के 2 करोड़ लोगों को बिल्कुल मुफ्त दी जाएगी कोरोना की वैक्सीन

 

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन की फाइल फोटो।
वहीं कोरोना वायरस संक्रमण के मद्देनजर डॉक्टरों का कहना है कि बार-बार सैनिटाइजर का इस्तेमाल जरूरी नहीं है हालांकि साबुन से अच्छी तरह से हाथ धोने की आदत बनाए रखें। जब भी बाहर से घर आएं तो साबुन से अच्छी तरह हाथ धोएं।

नई दिल्ली, ऑनलाइन डेस्क। दिल्ली में कोरोना वायरस संक्रमण के संभावित टीकाकरण के मद्देनजर राज्य के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन (Delhi Health Minister Satyender Jain) ने बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा कि दिल्ली में तो यूं भी दवाइयां और उपचार मुफ्त में दिया जा रहा है। ऐसे में माना जा रहा है कि दिल्ली में सभी को कोरोना का टीका मुफ्त में लगाया जाएगा। पत्रकारों के सवाल के जवाब में दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा कि दिल्ली के अंदर लोगों के लिए दवाइयां और इलाज मुफ्त हैं, कोरोना वैक्सीन भी बिल्कुल मुफ्त दी जाएगी। दिल्ली में तीन जगह वेंकटेश्वर अस्पताल, जीटीबी अस्पताल और दरियागंज की डिस्पेंसरी में वैक्सीन का ड्राइ रन किया जा रहा है। दिल्ली सरकार एक दिन में एक लाख लोगों को वैक्सीन लगाने की तैयारी कर चुकी है। वैक्सीन सबसे पहले स्वास्थ्य कर्मियों दी जाएगी और पहले चरण में 51 लाख लोगों को वैक्सीन देने का लक्ष्य है। उन्होंने कहा कि सभी वैक्सीन केंद्रों को अस्पतालों के साथ जोड़ा गया है, ताकि अगर वैक्सीन का दुष्प्रभाव पड़ता है, तो मरीज को तत्काल इलाज दिया जा सके।

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा कि जब किसी को वैक्सीन दे दी जाएगी, तो उस व्यक्ति को आधे घंटे के लिए निगरानी में रखा जाएगा। सभी वैक्सीन केंद्रों को किसी ना किसी अस्पताल के साथ जोड़ा गया है। कई केंद्र तो खुद अस्पताल में ही बनाए गए हैं। इसके अलावा, जो केंद्र अस्पताल से अलग बनाए गए हैं, उनको किसी न किसी अस्पताल से जोड़ दिया गया है। वैक्सीन देने को लेकर हमारी तैयारियां पूरी हो चुकी है। मुझे लगता है कि दिल्ली सरकार एक दिन में एक लाख तक वैक्सीन लगाने की तैयारी कर चुकी है। हम लोग शुरुआत में वैक्सीन सबसे पहले स्वास्थ्य कर्मियों को लगाएंगे। इसके बाद फ्रंटलाइन वर्कर जैसे पुलिस, सफाई कर्मचारी, जल बोर्ड के कर्मचारियों को वैक्सीन लगाई जाएगी। तीसरे नंबर पर 50 साल से अधिक उम्र के सभी लोगों और गंभीर बीमारियों से ग्रसित 50 साल से कम उम्र के लोगों को वैक्सीन लगाई जाएगी। दिल्ली में पहले चरण में लगभग 51 लाख लोगों को वैक्सीन दी जाएगी।

मीडिया के सवालों का जवाब देते हुए सत्येंद्र जैन ने कहा कि दिल्ली के अंदर वैसे ही सभी दवाइयां और इलाज मुफ्त है और अब वैक्सीन भी बिल्कुल मुफ्त दी जाएगी। इसके लिए हमने हर जगह पर निगरानी स्टेशन बनाए हैं। वैक्सीन लगवाने के लिए जो भी लोग आएंगे, उन्हें 10-10 के समूह में सोशल डिस्टेंसिंग के साथ बैठाया जाएगा। वैक्सीन लगने के बाद आधे घंटे तक उनकी निगरानी की जाएगी। अगर किसी को हल्का सा भी सर दर्द होता है या कोई अन्य परेशानी होती है, तो इसके लिए इमरजेंसी रूम भी बनाया है। साथ ही, अस्पताल के साथ लिंक भी किया गया है। जरूरत पड़ने पर उसे अस्पताल में भर्ती किया जाएगा।गौरतलब है कि यमुनापार में कोरोना वैक्सीनेशन की तैयारियां जोरों पर हैं। यहां पर कुल 117 केंद्र बनाए जा रहे हैं, जिसमें दिल्ली सरकार के चार बड़े अस्पताल व डिस्पेंसरी भी शामिल हैं। वैक्सीन को रखने के लिए हर जिले में कोल्ड चेन बनाई जा रही है, जहां वैक्सीन को हिफाजत के साथ रखा जाएगा।

शाहदरा के जिलाधिकारी संजीव कुमार ने बताया कि प्रशासन ने 44 केंद्रों को वैक्सीनेशन के लिए चिह्नित किया है। वहीं, पूर्वी जिले के एसडीएम संदीप दत्ता ने बताया कि जिले में 39 केंद्र हैं। इसमें चाचा नेहरू व लाल बहादुर शास्त्री अस्पताल भी शामिल हैं। उन्होंने बताया कि सबसे पहले वैक्सीन स्वास्थ्य कर्मियों को लगाई जाएगी, उसके लिए उन्हें को-विन एप पर पंजीकरण करना होगा। जो स्वास्थ्य कर्मी इस एप पर पंजीकरण करवाएगा उसे ही वैक्सीन लगेगी। एक दिन में सौ लोगों को वैक्सीन लगाई जाएगी। वहीं उत्तरी पूर्वी जिले में 34 केंद्र बनाए जा रहे हैं, जिसमें शुरुआत में 15 केंद्रों पर टीकाकारण होगा। जग प्रवेश चंद अस्पताल जिले का बड़ा केंद्र होगा।

वहीं, कोरोना वायरस संक्रमण के मद्देनजर डॉक्टरों का कहना है कि बार-बार सैनिटाइजर का इस्तेमाल जरूरी नहीं है, हालांकि साबुन से अच्छी तरह से हाथ धोने की आदत बनाए रखें। जब भी बाहर से घर आएं तो साबुन से अच्छी तरह हाथ धोएं। इसके अलावा पौष्टिक आहार व नियमित व्यायाम को दिनचर्या का हिस्सा बनाएं। साथ ही रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए विटामिन सी, विटामिन डी3 व जिंक का उचित मात्रा में सेवन करें। इसके अलावा धूप का सेवन करें।