भाजपा पर तीखा आरोप, भ्रष्‍टाचार के लिए 8.5 करोड़ की मशीन को 180 करोड़ के किराए पर ली

 

आडिट रिपोर्ट के द्वारा भारतीय जनता पार्टी पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाया गया है।
पाठक ने कहा कि लैंडफिल साइटों पर कूड़े के पहाड़ों की सफाई करने के लिए नगर निगमों ने सफाई करने वाली मशीन किराये पर ली हैं। बताया कि मशीनों के लिए कंपनी के मालिकों के साथ भाजपा शासित नगर निगमों ने पांच साल के लिए करार किया है।

नई दिल्ली, राज्य ब्यूरो। आम आदमी पार्टी (आप) लगातार नगर निगमों में भ्रष्टाचार के आरोप लगाकर भाजपा पर निशाना साध रही है। अब आप ने भाजपा नेताओं पर लैंडफिल साइटों की सफाई के नाम पर 180 करोड़ रुपये की गड़बड़ी का आरोप लगाया है। आप नेता दुर्गेश पाठक ने पार्टी मुख्यालय में प्रेसवार्ता कर कहा कि भलस्वा लैंडफिल साइट के संबंध में नगर निगम के आडिटर द्वारा एक आडिट रिपोर्ट जारी की गई है। इस रिपोर्ट के द्वारा भारतीय जनता पार्टी पर  भ्रष्टाचार का आरोप लगाया गया है। 

पाठक ने कहा कि दिल्ली में स्थित तीनों लैंडफिल साइटों पर कूड़े के पहाड़ों की सफाई करने के लिए नगर निगमों ने सफाई करने वाली मशीन किराये पर ली हैं। उन्होंने बताया कि इन मशीनों के लिए कंपनी के मालिकों के साथ भाजपा शासित नगर निगमों ने पांच साल के लिए करार किया है।

एक मशीन का एक महीने का किराया 6 लाख रुपये तय हुआ है। इस हिसाब से 50 मशीनों का 5 साल का कुल किराया लगभग 180 करोड़ रुपये हुआ। आडिट रिपोर्ट में दी गई एक मशीन की कीमत का जिक्र करते हुए उन्होंने बताया कि बड़ा ही आश्चर्यजनक है कि जिस एक मशीन के लिए भाजपा एक महीने के लिए 6 लाख रुपये किराया दे रही है, बाजार में उस मशीन की कुल कीमत ही मात्र 17 लाख रुपये है।

उन्होंने कहा कि यदि भाजपा शासित नगर निगम इन 50 मशीनों को बाजार से खरीदती है, तो कुल 8.5 करोड़ रुपये में 50 मशीनें खरीदी जा सकती हैं। परंतु भाजपा मात्र 8.5 करोड़ रुपये की कीमत वाली मशीनों को किराये पर लेकर 180 करोड़ रुपये का खर्चा कर रही है। जो काम मात्र 8.5 करोड़ रुपये में हो सकता था, भाजपा उस काम को करने के लिए जबरदस्ती जनता की मेहनत की कमाई को बर्बाद कर रही है।निगम सफलता पूर्वक कूड़े के पहाड़ों की ऊंचाई को घटा रहा है। इसे देखकर आम आदमी पार्टी के नेता परेशान हो गए हैं। इसलिए मनगढ़ंत आरोप लगा रहे हैं।