यूक्रेन में रूस निर्मित टीकों पर लगी रोक, यूक्रेन की संसद ने व‍िधेयक को दी हरी झंडी


कोविड-19 : यूक्रेन में रूस के निर्मित टीकों पर लगी रोक। फाइल फोटो।

यूक्रेन ने रूस में विकसित कोविड-19 टीकों के अनुमोदन पर रोक लगा दी है। यूक्रेन की संसद ने उस विधेयक को मंजूरी दे दी है जो रूस में बने टीकों के अनुमोदन पर प्रतिबंध लगाता है। रूस के लिए यह बड़ा झटका है।

यूक्रेन, एजेंसी। यूक्रेन ने रूस में विकसित कोविड-19 टीकों के अनुमोदन पर रोक लगा दी है। यूक्रेन की संसद ने उस विधेयक को मंजूरी दे दी है, जो रूस में बने टीकों के अनुमोदन पर प्रतिबंध लगाता है। सरकार ने कहा है कि हम उम्‍मीद करते हैं कि फरवरी में वैश्विक COVAX योजना के तहत अमेरिकी के फाइजर और जर्मनी के  BioNTech द्वारा विकसित किए गए टीके की 100,000 से 200,000 खुराक प्राप्त हो जाएगी। यूक्रेन में अभी तक किसी भी वैक्सीन को मंजूरी नहीं दी गई है, लेकिन अधिकारियों ने बार-बार कहा है कि कीव रूस से वैक्सीन को मंजूरी नहीं देगा या उपयोग नहीं करेगा। 

13 अगस्‍त, 2020 को रूस ने दावा किया था कि उसने अपने यहां कोविड-19 का टीका बना लिया है। इसकी घोषणा खुद राष्‍ट्रपति व्‍लादिमीर पुतिन ने की थी। उन्‍होंने दावा किया था कि उनके वैज्ञानिकों ने कोरोना वायरस की ऐसी स्पूतनिक वैक्‍सीन तैयार कर ली है, जो कोविड-19 के खिलाफ कारगर होगी। उन्‍होंने कहा कि यह परीक्षण सभी सुरक्षा मानकों पर खरा उतरा है। पुतिन ने कहा था कि ये टीका उनकी बेटी को भी दिया गया है। 

वैक्‍सीन को लेकर रूस की कंपनी का दावा था कि इसका इंसानों पर लगभग दो महीने परीक्षण किया गया और फ‍िर इसे मंजूरी दी गई है। उधर, जानकारों ने रूस के इतनी तेजी से टीका बना लेने के दावे पर संदेह जताया था। जर्मनी, फ्रांस, स्‍पेन और अमेरिका के वैज्ञानिकों ने इसे लेकर सतर्क रहने के लिए कहा था। इस पर रूस की सरकार ने अपनी प्रतिक्रिया भी दी थी। सरकार ने अपने बयान कहा था कि सभी आरोप बेबुनियाद हैं।