कोरोना पर काबू पाने में भारत पड़ोसी देशों में सबसे आगे, रोकथाम में पीछे रहा भ्रष्‍ट पाकिस्‍तान

 

कोविड-19 की रोकथाम में भारत पड़ोसियों से रहा अव्‍वल

नई दिल्‍ली (पीटीआई)। ट्रांसपेरेंसी इंटरनेशनल ने अपनी ताजा रिपोर्ट जारी की है। इस रिपोर्ट में उन देशों का खुलासा हुआ है जो भ्रष्‍टाचार की वजह से अपने यहां पर कोरोना महामारी को रोकपाने में नाकाम साबित हुए हैं या इसमें पिछड़ गए हैं। इसमें पाकिस्‍तान भारत के मुकाबले काफी नीचे है। इस रिपोर्ट की खास बात ये है कि इसमें भारत के पड़ोसी देश बांग्‍लादेश, श्रीलंका, नेपाल भी कहीं पीछे छूट गए हैं। हालांकि चीन भारत के मुकाबले इस लिस्‍ट में एक पायदान ऊपर जरूर है।ट्रांसपेरेंसी इंटरनेशनल ने अपनी एक रिपोर्ट जारी की है जिसमें कोविड-19 महामारी की रोकथाम में भ्रष्‍टाचार की वजह से आई रुकावट को बताया गया है। इस पूरी लिस्‍ट में भारत की रैंकिंग अपने पड़ोसी देशों के मुकाबले कहीं बेहतर है।

ट्रांसपेरेंसी इंटरनेशनल की इस रिपोर्ट में सभी देशेां को 100 में से नंबर दिए गए हैं। इसी आधार पर इन्‍हें वर्ल्‍ड रैंकिंग दी गई है। इसके मुताबिक पाकिस्‍तान का स्‍कोर 31 है जबकि उसका विश्‍व में रैंक 124 दिया गया है। वहीं इसमें बांग्‍लादेश 26 स्‍कोर पाने के साथ 146 रैंक पर है। इसके अलावा नेपाल 33 स्‍कोर लेकर 117 वें पायदान पर है। श्रीलंका की बात करें तो वो 38 नंबर पाकर 94 नंबर पर काबिज है। भारत की यदि बात करें तो उसको इस लिस्‍ट में 40 नंबर दिए गए हैं और वो 86वीं पायदान पर है। इसके अलावा 42 अंक पाकर चीन 78वें नंबर पर है और 28 नंबर पाकर म्‍यांमार की वर्ल्‍ड रैंकिंग 137है।

इस लिस्‍ट में शामिल टॉप-10 देशों की बात करें तो पहले नंबर पर न्‍यूजीलैंड काबिज है जिसको 100 में से 88 नंबर मिले हैं। इसके बाद इतने ही नंबर लेकर डेममार्क दूसरे, फिनलैंड तीसरे, स्विटजरलैंड चौथे, सिंगापुर पांचवें, स्‍वीडन छठे, नॉर्वे सातवें, नीदरलैंड आठवें, लग्‍जमबर्ग नौवें और जर्मनी दसवें नंबर पर शामिल है। इन देशों को क्रमश: 88 से 80 के बीच नंबर मिले हैं। आपको बता दें कि न्‍यूजीलैंड ने सबसे पहले अपने यहां पर कोविड-19 पर काबू पाने और प्रतिबंधों को हटाने की घोषणा की थी। इसको लेकर न्‍यूजीलैंड की काफी तारीफ भी हुई थी। वहीं वहां पर कुछ माह के बाद दोबारा संक्रमण बढ़ने पर भी वहां इस पर सफलतापूर्वक काबू पा लिया गया था। रॉयटर्स के आंकड़ों के मुताबिक वर्तमान में वहां पर कोरोना संक्रमण के कुल 2,299 मामले हैं जबकि 25 मरीजों ने यहां पर इसकी वजह से अपनी जान गंवाई है। इसके अलावा 2,205 मरीज ठीक भी हुए हैं।

ट्रांसपेरेंसी इंटरनेशनल की इस लिस्‍ट में ब्रिटेन जहां पर कोविड-19 के नए स्‍ट्रेन मिलने से काफी कोहराम मचा हुआ है उसकी वर्ल्‍ड रैंकिंग 11 है जबकि उसको 77 अंक हासिल हुए हैं। आपको बता दें कि ब्रिटेन में कोविड-19 को देखते हुए कई जगहों पर लॉकडाउन लगाया गया है। इस नए स्‍ट्रेन के अन्‍य देशों में भी मिलने की वजह से वहां पर भी कोविड-19 के नए मामले बढ़े हैं। इस पूरी लिस्‍ट में अमेरिका की वर्ल्‍ड रैंकिंग 25 है जबकि उसको 67 नंबर मिले हैं।

आपको बता दें कि अमेरिका काफी समय से कोरोना संक्रमण के मामलों में विश्‍व में सबसे ऊपर है। यहां पर इसकी वजह से हुई मौतें भी दुनिया में सबसे ज्‍यादा है। रॉयटर्स के आंकड़ों के मुताबिक अमेरिका में वर्तमान में कोरोना संक्रमण के कुल 25,661,892 मामले सामने आ चुके हैं। वहीं 429,661 मरीजों की मौत भी हो चुकी है, जबकि 11,365,963 मरीज ठीक भी हो चुके हैं।

वहीं कोरोना संक्रमण के मामलों में तीसरे नंबर पर काबिज ब्राजील की स्थिति इस लिस्‍ट में 94वें पर है। उसको 100 में से 38 नंबर हासिल हुए हैं। वहीं रूस को 30 नंबर मिले हैं जबकि उसकी विश्‍व में स्थिति 129 है। इसके अलावा फ्रांस की वर्ल्‍ड रैंकिंग 23 है ओर उसको 69 नंबर हासिल हुए हैं। स्‍पेन की वर्ल्‍ड रैंकिंग 32 है जबकि उसको 62 नंबर हासिल हुए हैं।