अमेरिकी विदेश मंत्री टोनी ब्लिंकन ने जयशंकर से की बात, कहा- हिंद प्रशांत में भारत से होगा निकट सहयोग

 FacebooktwitterwpEmail

अमेरिकी विदेश मंत्री टोनी ब्लिंकन। (फाइल फोटो)

वाशिंगटन, पीटीआइ। अमेरिकी विदेश मंत्री टोनी ब्लिंकन ने भारतीय विदेश मंत्री एस जयशंकर से फोन पर बातचीत की। दोनों के बीच पहली बार वार्ता हुई। इस दौरान उन्होंने भारत और अमेरिका के बीच मजबूत होती साझेदारी की बात दोहराई और इंडो-पैसिफिक क्षेत्र में अमेरिका का भारत के साथ निकट सहयोग होगा। साथ ही नए अवसरों को बेहतर बनाने और क्षेत्र में साझा चुनौतियों से निपटने के तरीकों पर चर्चा की। इस हफ्ते ब्लिंकन के अमेरिकी विदेश मंत्री का पदभार संभालने के बाद यह भारतीय समकक्ष जयशंकर से पहली बातचीत थी। मेरिकी विदेश मंत्री टोनी ब्लिंकन ने भारतीय विदेश मंत्री एस जयशंकर से फोन पर बातचीत की। दोनों के बीच पहली बार वार्ता हुई। इस दौरान उन्होंने भारत और अमेरिका के बीच मजबूत होती साझेदारी की बात दोहराई और इंडो-पैसिफिक क्षेत्र में अमेरिका का भारत के साथ निकट सहयोग होगा।

विदेश विभाग के प्रवक्ता नेड प्राइस ने शुक्रवार को कहा कि उन्होंने कोरोना टीकाकरण प्रयासों, क्षेत्रीय विकास और द्विपक्षीय संबंधों के विस्तार देने के लिए उठाए जाने वाले कदमों और आपसी चिंता के मुद्दों पर चर्चा की। उन्होंने  कहा कि ब्लिंकन ने इंडो-पैसिफिक में अमेरिकी के निकट साझेदार के रूप में भारत की भूमिका को रेखांकित किया और क्वाड सहित क्षेत्रीय सहयोग का विस्तार करने के लिए साथ मिलकर काम करने के महत्व को बताया। दोनों ने वैश्विक मुद्दों पर निकट समन्वय के साथ काम करने पर सहमति जताई और जल्द सेमिलने की  इच्छा व्यक्त की।

भारतीय विदेश मंत्रालय ने कहा कि जयशंकर और ब्लिंकन ने बहुपक्षीय रणनीतिक साझेदारी को मजबूत करने और इसके विस्तार पर प्रतिबद्धता व्यक्त की। उन्होंने मजबूत रक्षा और सुरक्षा संबंधों, बढ़ती आर्थिक व्यस्तता, उत्पादक स्वास्थ्य देखभाल सहयोग और  लोगों से लोगों के बीच महत्वपूर्ण संबंधों की सराहना की। कोरोना के बाद की दुनिया की चुनौतियों को स्वीकार करते हुए, दोनों नेता सुरक्षित और सस्ती वैक्सीन आपूर्ति सहित वैश्विक मुद्दों से निपटने के लिए एक साथ काम करने के लिए सहमत हुए। उन्होंने शांति और सुरक्षा के लिए विशेष रूप से इंडो-पैसिफिक क्षेत्र में अपनी प्रतिबद्धता को भी दोहराया। बता दें कि पद संभालने के बाद अमेरिकी विदेश मंत्री ब्लिंकन कनाडा, मैक्सिको, जापान और दक्षिण कोरिया समेत दर्जनों देशों के विदेश मंत्रियों से बातचीत कर चुके हैं।