अवकाश के बदले मांगी अस्मत, केस दर्ज

 

अवकाश के बदले मांगी अस्मत। फाइल फोटो
 जोधपुर के जयनारायण व्यास विश्वविद्यालय से जुड़ा है। यहां एक संविदा कर्मी महिला सफाईकर्मी को अवकाश दिया जाने की एवज में उसकी अस्मत मांगी गई है। पीड़ित महिला द्वारा जोधपुर के रातानाडा थाना में इस संबंध में शिकायत दी गई है।

जोधपुर, संवाद सूत्र।  राजस्थान के जोधपुर नगर निगम में अवकाश देने के बहाने अस्मत मांगने का मामला अभी शांत भी नहीं हुआ था कि अवकाश के बदले अस्मत मांगने का मामला सामने आ गया है। मामला जोधपुर के जयनारायण व्यास विश्वविद्यालय से जुड़ा है। यहां एक संविदा कर्मी महिला सफाईकर्मी को अवकाश दिए जाने की एवज में उसकी अस्मत मांगी गई है। पीड़ित महिला द्वारा जोधपुर के रातानाडा थाना में इस संबंध में शिकायत दी गई है। जिसके मुताबिक, महिला ने साथी कर्मचारी पर संविदा से स्थायीकरण और रुके बकाया पेमेंट को दिलवाने के साथ-साथ अवकाश दिलाने के नाम पर अस्मत मांगने का आरोप लगाया है। फिलहाल, पुलिस ने लज्जा भंग की धाराओं में मामला दर्ज किया है।

रातानाड़ा थानाधिकारी के अनुसार, जोधपुर के जय नारायण व्यास विश्वविद्यालय में संविदा पर लगी एक महिला सफाईकर्मी ने रिपोर्ट दी है,  जिसके अनुसार उसका स्थायीकरण और काम की बकाया पेमेंट को लेकर एक मामला विचाराधीन है। इस मामले को लेकर विश्वविद्यालय का ही सहकर्मी स्टाफ इस काम को करवाने के लिए उस पर मानसिक रूप से दबाव बना रहा है। महिलाा ने रिपोर्ट में अनैतिक बातें करनेे का आरोप लगायाा है। बकाया पेमेंट और स्थायीकरण केस के निस्तारण की बात कह कर सहकर्मी उससे अनैतिक बातें कर रहा है। उसके साथ संबंध बनाने का दबाव बना रहा है, जिससे वह मानसिक प्रताड़ना झेल रही है। सहकर्मी ने बातों-बातों में उससे अस्मत भी मांग ली है। मानसिक रूप से प्रताड़ित हुई महिला कर्मचारी ने पुलिस की शरण लेकर रातानाडा थाने में केस दर्ज कराया है । पुलिस ने फिलहाल लज्जा भंग में केस दर्ज किया है। थानाधिकारी ने बताया कि घटना को लेकर जांच की जा रही है ।

निगम कर्मी भी मांग चुका है अवकाश के बदले अस्मत, हुआ निलंबित

इससे पहले इसी माह में जोधपुर नगर निगम में महिला सफाई कर्मी को छुट्टी दिए जाने की एवज में अस्मत मांगे जाने का मामला सामने आया था। यहां महिला को अपने बीमार भाई की देखभाल के लिए छुट्टी चाहिए थी, लेकिन सफाई निरीक्षक ने इसके बदले उससे दोस्ती के बहाने और बहुत कुछ और की डिमांड कर डाली। महिला सफाईकर्मी के भाई की मौत होने पर मामला सामने आया। इसके बाद आक्रोशित महिला सफाई कर्मियों ने निरीक्षक धमेंद्र गहलोत की उसके ही कार्यलय में ही जमकर धुनाई कर दी। सोशल मीडिया पर दोनों की बातचीत का वीडियो भी वायरल हुआ था। इसके बाद सफाई निरीक्षक धर्मेंद्र गहलोत को निलंबित कर दिया गया। इस मामले में भी आरोपित दोस्ती और अपने प्रस्ताव के बदले में बिना एप्लिकेशन के छुट्टी लेने व बाद में छुट्टी की जगह हाजिरी लगाने की बात करने लगा था। इसके बाद पुलिस कार्रवाई के साथ-साथ विभागीय कार्रवाई भी की गई।