लालू प्रसाद यादव की हालत में सुधार, प्राइवेट वार्ड में किए गए शिफ्ट

 


राष्ट्रीय जनता दल के अध्यक्ष व बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव की फाइल फोटो।
एम्स में कार्डियोलॉजी विभाग के प्रोफेसर डॉ. राकेश यादव के नेतृत्व में उनका इलाज चल रहा है। इसके अलावा नेफ्रोलॉजी व पल्मोनरी मेडिसिन के डाक्टर भी उनके स्वास्थ्य की देखभाल कर रहे हैं।

नई दिल्ली : राष्ट्रीय जनता दल के अध्यक्ष व बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव की हालत में पहले से सुधार है। उन्हें अब कार्डियक सेंटर के आइसीयू से प्राइवेट वार्ड में स्थानांतरित कर दिया गया है। दिल्ली स्थित अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान के एक वरिष्ठ डाक्टर ने लालू प्रसाद यादव से जुड़ी जानकारी देते हुए कहा कि उनकी हालत अब स्थिर हो गई है, लेकिन ठीक होने में थोड़ा वक्त लगेगा।

उल्लेखनीय है कि लालू प्रसाद यादव को रांची से एयर एंबुलेंस से दिल्ली लाकर 23 जनवरी की रात एम्स के आइसीयू में भर्ती किया गया था। उन्हें दिल व किडनी की गंभीर बीमारी है। इसके अलावा जिस वक्त उन्हें एम्स में लाया गया था तब उन्हें निमोनिया की भी शिकायत थी।

यहां  पर बता  दें कि एम्स में कार्डियोलॉजी विभाग के प्रोफेसर डॉ. राकेश यादव के नेतृत्व में उनका इलाज चल रहा है। इसके अलावा नेफ्रोलॉजी व पल्मोनरी मेडिसिन के डाक्टर भी उनके स्वास्थ्य की देखभाल कर रहे हैं। एम्स में इलाज शुरू होने के बाद बताया जा रहा है कि अब वह पहले से बेहतर हैं, इसलिए 27 जनवरी को उन्हें प्राइवेट वार्ड में स्थानांतरित कर दिया गया।  

बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव 23 दिसंबर 2017 से चारा घोटाला मामले में रांची के बिरसा मुंडा जेल में बंद हैं। दुमका, देवघर और चाईबासा कोषागार से अवैध निकासी मामले में रांची स्थित सीबीआई की स्पेशल कोर्ट इन्हें सजा सुना चुकी है। गौरतलब है कि राष्ट्रीय जनता दल के मुखिया लालू प्रसाद के खिलाफ चारा घोटाले के कुल मामले हैं, जिनमें से 4  मामलों में उन्हें सजा मिल चुकी है।  वहीं, राहत की बात यह है कि तीन मामलों में लालू प्रसाद को पहले ही जमानत मिल चुकी है। सिर्फ एक मामले में फिलहाल सीबीआई कोर्ट में सुनवाई चल रही है।