लुधियाना में तनाव के बाद भाजपा ने स्थगित किया तिरंगा मार्च, छावनी में तब्दील हुआ शहर

 


भाजपा की तिरंगा यात्रा के मद्देनगर गश्त करती पुलिस। (जागरण)

लुधियाना,   शहर में भाजपा के तिरंगा मार्च निकलने से पहले ही तनाव का माहाैल पैदा हो गया। जिसके बाद मार्च को स्थगित कर दिया गया। भाजपा ने कहा है कि पार्टी टकराव नहीं चाहती। जिला प्रधान पुष्पेंद्र सिंगल ने कहा कि प्रदेश प्रधान के आदेश पर यात्रा स्थगित की गई है। हालांकि भाजपा कार्यकर्ता अभी भी माता रानी चौक में तिरंगे लहरा रहे हैं और दोनों तरफ नारेबाजी हो रही है।Tiranga March पुलिस और जिला प्रशासन काे आशंका है कि किसान भी तिरंगा मार्च में खलल डाल सकते हैं। शनिवार शाम चार बजे भाजपा ने तिरंगा मार्च निकालने का एलान किया है। पुलिस इसकाे लेकर अतिरिक्त सर्तकता बरत रही है।

बता दें कि शनिवार को भाजपा की ओर से निकाले जा रहे तिरंगा मार्च का शिराेमणि अकाली दल ने विरोध करने का एलान कर दिया। इसके बाद से ही पुलिस ने चाैकसी बढ़ा दी। शहर काे पुलिस छावनी में तब्दील कर दिया गया। अकाली दल व किसान समर्थक अकालगढ़ मार्केट के बाहर इकट्ठा हाे गए और देखते ही देखते भाजपा और अकाली दल के कार्यकर्ता आमने-सामने आ गए। माहौल खराब होता देख पुलिसबल बढ़ा दिया गया। हालांकि पुलिस ने उस समय राहत की सांस ली, जब भाजपा ने मार्च को रद करने का फैसला लिया।

लुधियाना में भाजपा की तिरंगा यात्रा के मद्देनजर सुरक्षा व्यवस्था कड़ी।

इससे पहले एडीसीपी प्रज्ञा जैन शनिवार सुबह से ही तिरंगा मार्च के रूट का जायजा लेती रही। इस दाैरान उन्हाेंने पुलिस काे सुरक्षा व्यवस्था में सख्ती बरतने के निर्देश दिए। इसी तरह डीसीपी अश्वनी कपूर ने भी चौड़ा बाजार का जायजा लिया और सर्तकता बरतने के आदेश दिए।

गणतंत्र दिवस पर हुई हिंसा के बाद पंजाब में सुरक्षा कड़ी

तिरंगा यात्रा से पहले गश्त करते पुलिस अधिकारी।

दिल्ली में 26 जनवरी काे गणतंत्र दिवस पर हुई हिंसा के बाद पंजाब में सुरक्षा कड़ी कर दी गई है। इसके अलावा सुरक्षा एजेंसियाें ने दिल्ली हिंसा के मामले में कई युवकाें काे पूछताछ के लिए उठाया है। पुलिस का कहना है कि किसी भी आराेपित काे बख्शा नहीं जाएगा।