कैसे एक घंंटे तक सिंघु बॉर्डर पर चलता रहा हंगामा


पुलिस ने हंगामा कर रहे लोगों पर लाठीचार्ज भी किया।

सिंघु बॉर्डर पर दिल्ली की सीमा पुलिस ने सील कर दी है। आसपास की दुकानें भी बंद करा दी गई है जिससे सिंघु व कुंडली की ओर लोगों की आवाजाही बंद हो गई है। ऐसे में सिंघु बॉर्डर पर धरना दे रहे किसानों का जोश ठंडा पड़ रहा है।

नई दिल्ली । दिल्ली-हरियाणा के सिंघु बॉर्डर पर शुक्रवार दोपहर हालात एकदम बदल गए। दरअसल, स्थानीय लोगों को किसान प्रदर्शनकारियों के बीच पथराव हो गया। स्थानीय ग्रामीणों और किसान प्रदर्शनकारियों में से कई लोग घायल हो गए।सिंघू बॉर्डर पर स्थानीय लोगों व आंदोलनकारियों के बीच पथराव के चलते कई पुलिसकर्मी भी घायल हुए हैं। मौके पर तैनात पुलिस ने हालात पर काबू पाने के लिए आंसू गैस के गोले छोड़े। इस बीच पुलिस ने हंगामा कर रहे लोगों पर लाठीचार्ज भी किया।

बताा जा रहा है कि पुलिस ने स्थिति को संभालने के लिए आंसू गैस के गोले दागे। आंदोलनकारियों में कुछ उपद्रवी भी तलवार लेकर पहुंचे, जिसे पुलिस ने कब्जे में लिया।

अलीपुर थाने में तैनात एसएचओ पर प्रदर्शनकारियों ने एक शख्स ने तलवार से हमला किया है। हालांकि, उसे गिरफ्तार कर लिया गया है।

 सिंघु बॉर्डर पर दिल्ली की सीमा पुलिस ने सील कर दी है। आसपास की दुकानें भी बंद करा दी गई है, जिससे सिंघु व कुंडली की ओर लोगों की आवाजाही बंद हो गई है।

ग्रामीणों का नेतृत्व कर दिल्ली देहात विकास मंच के महासचिव अनूप सिंह मान ने बताया कि गणतंत्र दिवस पर लाल किले में उपद्रव कर देश की गरिमा को धूमिल करने वाले ऐसे लोगों ने पिछले दो माह से सिंघु बार्डर को बंद कर रखा है। ऐसे में आवागमन ठप होने से दिल्ली देहात बंधक बना हुआ है। 

बताया जा रहा है कि ग्रामीणों को रोजाना अनेक मुसीबतों का सामना करना पड़ रहा है। लोग अस्पताल नहीं जा पा रहे हैं। महिलाएं घरों से निकल कर कहीं आजा नहीं पा रही है। लोग रिश्तेदारों के यहां नहीं जा पा रहे हैं। अगर लोग घर से निकलते हैं तो उन्हें अपने गंतव्य तक पहुंचने के लिए कई किलोमीटर की दूरी तय करनी पड़ती है। लोगों को मीलों पैदल चलना पड़ रहा है।

गणतंत्र दिवस की घटना के बाद गांव के लोगों के मन में आक्रोश देखा जा रहा है। देहात के लोग बिना किसी गलती के मुसीबतों का सामना कर रहे हैं। लेकिन अब उनका धैर्य जबाव देने लगा है। यही कारण है कि अब ग्रामीण सिंघु बार्डर को खाली कराने को लेकर संकल्पित हो चुके हैं।