इस साल GDP में 7.7 फीसद गिरावट का अनुमान, अगले साल 11 फीसद की हो सकती है बढ़त


नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। आज बजट सत्र के पहले दिन 29 जनवरी को वित्त मंत्री ने लोकसभा में आर्थिक सर्वेक्षण पेश किया। इस बार कोरोना संकट की वजह से आर्थिक समीक्षा का कागजों पर प्रकाशन नहीं हुआ। आर्थिक समीक्षा 2020-2021 को इलेक्ट्रॉनिक फॉर्मेट में सांसदों को उपलब्ध कराया गया। सर्वेक्षण के मुताबिक, पूरे वित्त वर्ष 2020-21 के लिए 7.7 फीसद संकुचन हुआ और अगले वर्ष में इसमें V शेप के रिकवरी की उम्मीद है। इसके अलावा 2021-22 के वित्तीय वर्ष में सकल घरेलू उत्पाद (GDP) की वृद्धि में 11 फीसद का विस्तार नजर आ रहा है।

इससे पहले राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के अभिभाषण के साथ बजट सत्र की शुरुआत हुई। अपने संबोधन में राष्ट्रपति ने पिछले दिनों सरकार की ओर से उठाए गए योजनाओं व उपलब्धियों के बारे में बताया। आर्थिक सर्वेक्षण के बाद मुख्य आर्थिक सलाहकार के वी सुब्रमण्यम दोपहर 3.30 बजे एक प्रेस कांफ्रेंस करेंगे। विपक्ष के हंगामे के बाद लोकसभा की कार्यवाही सोमवार 1 फरवरी तक के लिए स्थगित कर दी गई। 

आइये जानते हैं राष्ट्रपति के संबोधन की मुख्य बातें...

  • जून 2020 में हमारे 20 जवानों ने मातृभूमि की रक्षा के लिए गलवान घाटी में अपना सर्वोच्च बलिदान दिया। हर देशवासी इन शहीदों का कृतज्ञ है।
  • केंद्र शासित प्रदेश बनने के बाद, कुछ महीने पहले लद्दाख स्वायत्त पर्वतीय विकास परिषद के चुनाव की प्रक्रिया भी सफलता-पूर्वक सम्पन्न हुई है। अब लद्दाख के लोग स्वयं, अपने प्रदेश के विकास से जुड़े निर्णय और तेजी से ले रहे हैं।
  • आयुष्मान भारत - सेहत योजना लागू होने के बाद जम्मू कश्मीर के हर परिवार को 5 लाख रुपए तक के मुफ्त इलाज का लाभ मिलना तय हुआ है।
  • मेरी सरकार की विकास नीति को जम्मू कश्मीर के लोगों ने भी भरपूर समर्थन दिया है। कुछ सप्ताह पहले ही, आजादी के बाद पहली बार, जम्मू कश्मीर में जिला परिषद के चुनाव सफलता के साथ संपन्न हुए हैं।
  • बड़ी संख्या में मतदाताओं की भागीदारी ने दर्शाया है कि जम्मू कश्मीर नए लोकतांत्रिक भविष्य की तरफ तेज़ी से आगे बढ़ चला है। प्रदेश के लोगों को नए अधिकार मिलने से उनका सशक्तीकरण हुआ।

आर्थिक सर्वेक्षण में देश की इकोनॉमी के ब्रॉड प्रोस्पेक्ट, राजकोष, महंगाई दर और सभी तरह की आर्थिक गतिविधियों के बारे में विस्तार से सारी जानकारी रहती है। आर्थिक सर्वेक्षण देश की इकोनॉमी की स्थिति को समझने के लिए जरूरी दस्तावेज है। 

सर्वेक्षण में आर्थिक विकास का पूर्वानुमान भी शामिल होता है, इसके अलावा अर्थव्यवस्था में तेजी रहेगी या मंदी, ये बातें भी शामिल होती हैं। 

बता दें कि केंद्रीय बजट 2021 का सीधा प्रसारण लोकसभा टीवी पर होगा। सत्र का पहला भाग 15 फरवरी तक जारी रहेगा। सत्र का दूसरा भाग 8 मार्च से 8 अप्रैल तक होगा। राज्यसभा सुबह 9 बजे से दोपहर 2 बजे तक और लोकसभा शाम 4 बजे से 9 बजे शून्यकाल और प्रश्नकाल के साथ कार्य करेगी। संसद सदस्य बजट सत्र की शुरुआत से पहले COVID-19 के लिए RT-PCR टेस्ट कराएंगे। 

कौन हैं मुख्य आर्थिक सलाहकार

मुख्य आर्थिक सलाहकार के वी सुब्रमण्यम हैं। के वी सुब्रमण्यम 2018 में सरकार के मुख्य आर्थिक सलाहकार के तौर पर नियुक्त किए गए थे। इससे पहले वे हैदराबाद के इंडियन स्कूल ऑफ बिजनेस में प्रोफेसर के पद पर रह चुके हैं। वे शिकागो विश्वविद्यालय के बूथ स्कूल ऑफ बिजनेस से वित्तीय अर्थशास्त्र में पीएचडी कर चुके हैं। आईएसबी की वेबसाइट के अनुसार, सुब्रमण्यम की कारपोरेट कामकाज, बैंकिंग और आर्थिक नीति जैसे विषयों पर अच्छी जानकारी है।