आर्मी को मिलेगा अर्जुन टैंक मार्क-1 ए नोट, DRDO चीफ ने प्रधानमंत्री के फैसले को बताया 'अहम'


DRDO प्रमुख ने प्रधानमंत्री के फैसले की तारीफ की

 भारतीय सेना को मजबूत करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 118 अर्जुन टैंक सेना को देने का फैसला किया है जिसकी तारीफ रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (DRDO) प्रमुख सतीष रेड्डी ने की।

नई दिल्ली, एएनआइ। रक्षा अनुसंधान और विकास संगठनप्रमुख सतीष रेड्डी  ने कहा, 'आर्मी को MK-1A सौंपने का ऐलान कर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के लिए काफी अहम फैसला लिया है। इसके जरिए यह संदेश दिया जा रहा है कि भारत अपने स्वदेशी सिस्टम के साथ है और यह काफी व्यापक तरीके से प्रोत्साहित किया जाएगा।' DRDO ने बताया है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 14 फरवरी को चेन्नई में अर्जुन टैंक के नवीनतम संस्करण मार्क-1 ए  को भारतीय सेना को सौपेंगे।

DRDO प्रमुख ने बताया, 'अर्जुन मार्क 1 ए में अत्याधुनिक फीचर्स हैं। इसमें कई पाइपलाइन लगे हैं जैसे वायुसेना और नौसेना के लिए एयर टू एयर मिसाइल अस्त्र, स्मार्ट एंटी एयरफील्ड वीपन, एयर इंडिपेंडेंट प्रपल्सन, ATAGS guns, एयरक्राफ्ट व मीडियम पावर रडाल आदि हैं। रक्षा मंत्रालय की ओर से दी गई जानकारी के अनुसार भारतीय सेना को मजबूत करने के लिए 118 अर्जुन टैंक सेना को दिए जाएंगे। इनकी कीमत 8400 करोड़ रुपये है। इसके लिए मंजूरी दे दी गई है। प्रधानमंत्री कार्यालय की ओर से बताया गया है कि प्रधानमंत्री तमिलनाडु और केरल में कई परियोजनाओं का शिलान्यास और उद्घाटन करेंगे। इसी दौरान वो चेन्नई में सेना को अर्जुन मुख्य युद्धक टैंक भी सौंपेंगे। 

हाल में ही रक्षा मंत्रालय ने भारतीय सेना में 118 अर्जुन मार्क 1ए टैंक को शामिल करने की मंजूरी दी है। DRDO ने टैंक को पूरी तरह से डिजाइन और विकसित किया है। 124 अर्जुन टैंकों में से फ्लीट के पहले बैच में 118 अर्जुन टैंक शामिल किए जाएंगे और भारतीय सेना पहले ही इनकी तैनाती कर चुकी है। इन टैंकों पाकिस्तान से लगी सीमा पर पश्चिमी रेगिस्तानी इलाकों में तैनात किया गया है। यह 118 अर्जुन टैंक भारतीय सेना की दो रेजिमेंट बनाएंगे।