कामधेनु है यह गाय, बिना बच्‍चा दिए 15 साल से दे रही दूध


यह गाय प्रतिदिन चार से पांच लीटर दूध दे रही है।

चतरा के मयूरहंड प्रखंड की नंदनी गाय की अद्भुत कहानी है। बिना गर्भ के 15 साल से दूध दे रही है। लक्ष्मी स्वरूपा गाय से पशुपालक का पूरा परिवार गदगद है। यह गाय प्रतिदिन चार से पांच लीटर दूध दे रही है।

मयूरहंड (चतरा)]। इस नंदि‍नी की अद्भुत कहानी है। बल्कि यह कहें कि यह एक चमत्कार है। जिस किसी को इसकी जानकारी मिलती है, वह आश्चर्यचकित रह जाते हैं। स्वाभाविक है कि कोई गाय यदि लगातार पंद्रह वर्षों से दूध दे, तो उसे अद्भुत ही कहेंगे। डेढ़ दशक में इस गाय ने कभी गर्भधारण नहीं की। बगैर गर्भ का दूध दे रही है। यह भाग्यशाली नंदि‍नी मयूरहंड प्रखंड के पंदनी पंचायत के अंबातरी गांव निवासी कृष्णा सिंह की है।

कृष्णा सिंह ने वर्ष 2005 में उसे हजारीबाग से खरीदा था। तीन महीनों के बछड़े के साथ बीस हजार रुपये में। उस वक्त यह गाय सुबह और शाम चार-चार लीटर दूध देती थी। एक वर्ष के बाद दूध की मात्रा कम कर दी। फिलहाल दोनों वक्त मिलाकर चार से पांच लीटर दूध दे रही है। पशुपालक कृष्णा सिंह इसे गौ-माता की कृपा बताते हैं। उनका पूरा परिवार इससे गदगद है। मजे की बात तो यह है कि परिवार के सदस्य जब चाहते हैं, गाय से दूध निकाल लेते हैं।

कृष्णा सिंह कहते हैं कि जब से यह गाय आई है, तब से दूध की समस्या खत्म हो गई है। उन्होंने बताया कि वर्ष 2005 में हजारीबाग से बीस हजार रुपये में बछड़ा के साथ गाय को खरीदा था। उस समय गाय बारह लीटर दूध देती थी। समय बीतने के साथ गाय ने फिर कभी गर्भधारण नहीं किया। गर्भधारण को लेकर कई बार चिकित्सकों की सलाह ली। परंतु सफलता नहीं मिली। हां दूध की मात्र कम कर दी।

विशेषज्ञ की राय

हार्मोन की अधिकता से यह संभव है। इस प्रकार के विलक्षण गाय लाखों में एक-दो होती है। अंबातरी गांव निवासी कृष्णा सिंह की गाय कई वर्षों से दूध दे रही है, यही सही है। -डाॅ. अनिल लौंग, पशु चिकित्सक, इटखोरी व मयूरहंड।

क्या कहते हैं अधिकारी

हां, ऐसे कुछ मामले संज्ञान में आए हैं। हालांकि यह मामला थोड़ा विभिन्न जरूर है। चार से पांच साल तक लगातार दूध देने वाली एक दो गाय को देखे हैं। लेकिन पंद्रह साल से निरंतर दूध देने वाली गाय के संबंध में पहली बार सुन रहा हूं। दरअसल पोषक तत्व बेहतर होगा। इससे वह लगातार दूध दे रही है।