एकेटीयू में ऑफलाइन ही होंगी सभी परीक्षाएं, सुप्रीम कोर्ट का हस्तक्षेप से इन्कार; 16 से होगी परीक्षा

 

डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम प्राविधिक विश्वविद्यालय (एकेटीयू) ऑफलाइन परीक्षा आयोजित कराएगा।

 सुप्रीम कोर्ट में न्यायमूर्ति एएम खानविलकरन्यायमूर्ति इंदु मल्होत्रा तथा न्यायमूर्ति अजय रस्तोगी की खंडपीठ ने एकेटीयू में ऑफलाइन परीक्षा अधिसूचना को रद करने की छात्रों के एक समूह की मांग वाली याचिका पर सुनवाई के बाद इसमें किसी भी प्रकार का हस्तक्षेप करने से इन्कार कर दिया।

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के अब्दुल कलाम तकनीकी विश्वविद्यालय (एकेटीयू) में ऑफलाइन परीक्षा कराने के फैसले पर सुप्रीम कोर्ट ने किसी भी प्रकार का हस्तक्षेप से साफ इन्कार कर दिया है। अब यहां पर सभी परीक्षाएं ऑफलाइन ही होंगी। ऑफलाइन माध्यम से परीक्षाएं 16 फरवरी से शुरू हो रही हैं।

सुप्रीम कोर्ट में न्यायमूर्ति एएम खानविलकर,न्यायमूर्ति इंदु मल्होत्रा तथा न्यायमूर्ति अजय रस्तोगी की खंडपीठ ने अब्दुल कलाम तकनीकी विश्वविद्यालय (एकेटीयू) में ऑफलाइन परीक्षा कराने के लिए जारी अधिसूचना को रद करने की छात्रों के एक समूह की मांग वाली याचिका पर सुनवाई के बाद इसमें किसी भी प्रकार का हस्तक्षेप करने से इन्कार कर दिया। 

डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम प्राविधिक विश्वविद्यालय (एकेटीयू) ऑफलाइन परीक्षा आयोजित कराएगा। यह निर्णय मंगलवार विश्वविद्यालय परीक्षा समिति की 59 वीं विशेष बैठक में लिया गया। बैठक कुलपति प्रो. विनय कुमार पाठक की अध्यक्षता में हुई। इसके विरोध में छात्रों का समूह सुप्रीम कोर्ट तक पहुंच गया था, लेकिन उनको राहत नहीं मिली।परीक्षा नियंत्रक प्रो. राजीव कुमार ने बताया कि परीक्षाओं के बीच में गैप रखने के लिए छात्र-छात्राओं के अनुरोध पर परीक्षा समिति ने विचार किया गया। उन्होंने बताया कि समिति ने ऑफलाइन परीक्षाएं आयोजित करने का निर्णय लिया गया है।