संसद का बजट सत्र 2021 : विपक्ष के हंगामे के बावजूद लोकसभा और राज्यसभा में बंपर काम

 

बजट सत्र के पहले चरण में लोकसभा और राज्यसभा में बंपर काम।

इस साल के बजट सत्र के पहले भाग में संसद में विपक्ष के हंगामे के बावजूद दोनों सदनों में कामकाज भी बखूबी हुआ है। लोकसभा में अब तक के पूरे बजट सत्र में करीब सौ फीसद कामकाज हुआ है। इसी तरह राज्यसभा का कामकाज 99 फीसद हुआ है।

नई दिल्ली, एजेंसियां। इस साल के बजट सत्र के पहले भाग में संसद में विपक्ष के हंगामे के बावजूद दोनों सदनों में कामकाज भी बखूबी हुआ है। लोकसभा में इस हफ्ते के चार दिनों काम 164 फीसद तक हुआ, जबकि अब तक के पूरे बजट सत्र में करीब सौ फीसद कामकाज हुआ है। इसी तरह दो हफ्ते चले बजट सत्र के पहले हिस्से में राज्यसभा का कामकाज 99 फीसद हुआ है।

लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने कामकाज का प्रतिशत बढ़ाने के प्रयासों के चलते सरकार और विपक्षी दलों के बीच विवादित कृषि कानूनों को लेकर उनके मतभेद दूर करने के अथक प्रयास किए हैं। हालांकि, कामकाज की उत्पादकता दो और पांच फरवरी से लेकर आठ और 11 फरवरी तक 164 प्रतिशत तक पहुंच गई थी। यह उत्पादकता 29 जनवरी और 11 फरवरी में 96 फीसद और शनिवार तक सौ फीसद हो जाने की उम्मीद है।

राज्यसभा में 99 फीसद तक कामकाज पूरा

वहीं, राज्यसभा के अध्यक्ष एम.वेंकैया नायडु ने बताया कि इस सत्र के प्रथम भाग में 99 फीसद तक कामकाज पूरा हो गया है। उन्हें यह बताते हुए खुशी हो रही है कि बजट सत्र का अगला भाग शुरू होने से पहले लगभग सभी कार्य संपन्न हो चुके हैं। इसके अलावा सदन में राष्ट्रपति के अभिभाषण के धन्यवाद प्रस्ताव पर भी 15 घंटे चर्चा चली। 

बजट सत्र का दूसरा भाग आठ मार्च से शुरू होगा 

बता दें कि कोरोना के कारण शारीरिक दूरी बनाए रखने के लिए दो शिफ्ट में संसद की कार्यवाही आयोजित हो रही है। पिछले साल मानसून सत्र का भी आयोजन ऐसे ही हुआ था, जबकि शीतकालिन सत्र का आयोजन नहीं हुआ था। बजट सत्र का दूसरा भाग दोनों सदनों में आठ मार्च से शुरू होगा जो आठ अप्रैल तक जारी रहेगा। 29 जनवरी को बजट सत्र की शुरुआत राष्ट्रपति के अभिभाषण के साथ हुई। वित्त मंत्री ने एक फरवरी को बजट पेश किया।