मौसी के घर से लौट रहीं दो नाबालिग बहनों से दुष्‍कर्म, 2 दिनों तक जंगल में रखा बंधक

Jharkhand Crime News: आदिवासी परिवार की दो नाबालिगों के साथ दो युवकों ने दुष्‍कर्म किया।
 अपनी मौसी के घर से वापस लौट रही आदिवासी परिवार की दो नाबालिगों के साथ बंधक बनाकर दुष्कर्म किया गया। दो युवक रविचंदन सिंह एवं कालेश्वर सिंह ने दोनों को अकेला पाकर जंगल में ले जाकर दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया।

गढ़वा,  गढ़वा जिले के रंका थाना क्षेत्र के एक गांव से अपनी मौसी के घर से वापस लौट रही आदिवासी परिवार की दो नाबालिगों के साथ दो दिन पूर्व दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिए जाने का मामला प्रकाश में आया है। इस मामले में नाबालिग के पिता ने शनिवार को रंका थाना में आवेदन देकर दो नामजद युवकों पर दुष्कर्म का आरोप लगाते हुए प्राथमिकी दर्ज करने का अनुरोध किया है।

थाना प्रभारी पंकज कुमार तिवारी ने बताया कि थाना क्षेत्र के एक गांव की दो नाबालिग चचेरी बहन अपने घरेलू मामले से परेशान होकर पिछले 10 फरवरी को अपने घर से बिना किसी को बताए मौसी के घर बेलवादामर चली गई थी। वहां से 8 दिनों तक रहने के बाद घर वापस लौटने के क्रम में बांदू बाजार से आगे आहर के पास गुरुवार की शाम करीब पांच बजे दो युवक क्रमशः रविचंदन सिंह एवं कालेश्वर सिंह ने दोनों को अकेला पाकर जंगल में ले जाकर दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया।

दुष्कर्मियों के चंगुल से छूटने के बाद दोनों बहनें वहां से देर रात किसी तरह अपने सहेली के घर पहुंची। दोनों के घर नहीं पहुंचने पर इनके पिता ने रंका थाना में गुमशुदगी का मामला दर्ज कराया था। 19 फरवरी को रंका थाना पुलिस ने परिजनों के मदद से दोनों नाबालिगों को उसकी सहेली के घर से बरामद किया। पूछताछ के दौरान दोनों ने अपने साथ हुए दुष्कर्म की घटना की जानकारी दी।

बाद में नाबालिग के पिता के आवेदन पर दोनों युवकों पर प्राथमिकी दर्ज करने के पश्चात चिकित्सकीय जांच एवं 164 का बयान दर्ज कराने के लिए दोनों नाबालिगों को उनके परिजनों के साथ पुलिस अभिरक्षा में गढ़वा भेज दिया है। वहीं दोनों आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस कार्रवाई में जुट गई है।