क्या 4 लोगों ने की थी दीप सिद्धू और इकबाल को छिपाने में मदद

 

उपद्रव करवाने के लिए आरोपितों को विदेश से रुपये तो नहीं भेजे गए थे। पुलिस इसकी छानबीन कर रही है।

दिल्ली पुलिस ने लाल किला उपद्रव मामले में गिरफ्तार दीप सिद्धू और इकबाल सिंह से शुक्रवार को कई राउंड में घंटों पूछताछ की। इस दौरान दीप सिद्दू और इकबाल सिंह से उपद्रव व घटना के वक्त उनके साथ मौजूद साथियों के बारे में जानकारी ली।

नई दिल्ली। दिल्ली पुलिस ने गणतंत्र दिवस के दिन लाल किला में उपद्रव मचाने वाले चार और लोगों की पहचान कर रही है। डिजिटल साक्ष्यों से आरोपितों की भूमिका की जांच की जा रही है। जांच के बाद उन्हें गिरफ्तार किया जाएगा। पुलिस को गिरफ्तार पंजाबी अभिनेता दीप सिद्धू और इकबाल सिंह से पूछताछ में संदिग्धों का पता चला। क्राइम ब्रांच और स्पेशल सेल ने शुक्रवार को पूछताछ में दौरान दोनों आरोपितों से संदिग्धों के संबंध में घंटों पूछताछ की। इस दौरान पुलिस को अहम जानकारी इकबाल सिंह से मिली। उसने बताया कि वह लाल किला पर जाने की योजना बनाकर नहीं चला था। लाल किला जाने वाले लोगों की भीड़ देख वह उनके साथ शामिल हो गया था। फिलहाल पुलिस पूरे मामले की छानबीन कर रही है।

पुलिस सूत्रों के मुताबिक दीप सिद्धू गणतंत्र दिवस से काफी पहले आंदोलन में शामिल हो गया था। सिंघु बॉर्डर व कुंडली होते हुए वह लाल किले पर गया था। कॉल डिटेल रिकार्ड (सीडीआर) से घटना वाले दिन दोपहर बाद करीब तीन बजे उसकी लोकेशन लाल किले के समीप मिली है।

वहीं लालकिले में उपद्रव के दौरान दीप सिद्धू के कई करीबी भी वहां मौजूद थे। सभी दीप सिद्धू के साथ ही वहां पहुंचे थे। वहीं, उपद्रव के बाद सभी बजाए आंदोलन स्थल जाने के अलग-अलग जगहों पर फरार हो गए थे। दीप सिद्धू रात करीब 10 बजे हरियाणा के कुरुक्षेत्र चला गया था। वहीं, रात में उसने अपना मोबाइल फोन बंद कर दिया था। इसके बाद वह कहां-कहां गया और उसकी क्या गतिविधि रही? पुलिस इसकी छानबीन कर रही है। पुलिस पहचान वाले उन चारों आरोपितों के बारे में फिलहाल बोलने से बच रही है। पुलिस को अंदेशा है कि इन चारों आरोपितों ने दीप सिद्धू और इकबाल को छिपाने में मदद की है।