भारत में अब तक 70 लाख लोगों को लग चुके हैं टीके, जानें- क्या है वैक्सीनेशन के लिए अगला प्लान

 

भारत में अब तक 70 लाख लोगों को टीके लग चुके हैं। (फाइल फोटो)
केंद्र सरकार 50 साल से ज्यादा उम्र के करीब 27 करोड़ लोगों को कोरोना की वैक्सीन देने की तैयारी कर रही है। इन्हें मार्च के मध्य से टीके लगने शुरू हो सकते हैं। इसके लिए पीएम मोदी राज्य के मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक कर निर्णय ले सकते हैं।

नई दिल्ली, एजेंसी। भारत में अब तक 70 लाख लोगों को टीके लग चुके हैं। अब सभी राज्यों में फ्रंटलाइन वर्कर्स को भी टीके लगने शुरू हो चुके हैं। सरकार देशभर में 2 करोड़ फ्रंटलाइन वर्कर्स मानकर चल रही हैं। हालांकि,  अब तक 1 करोड़ फ्रंटलाइन वर्कर्स ने ही टीके के लिए रजिस्ट्रेशन कराया है।

इसके बाद केंद्र सरकार 50 साल से ज्यादा उम्र के करीब 27 करोड़ लोगों को कोरोना की वैक्सीन देने की तैयारी कर रही है। इन्हें मार्च के मध्य से टीके लगने शुरू हो सकते हैं। इसके लिए पीएम मोदी राज्य के मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक कर निर्णय ले सकते हैं। प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्रियों की बैठक में इस बात पर चर्चा होगी कि टीकाकरण का कितना खर्च केंद्र देगा और कितना राज्य देंगे। अभी तक यह स्पष्ट नहीं है कि 50 साल से अधिक उम्र के लोगों को कोरोना वैक्सीन मुफ्त में मिलेगी या नहीं।

केंद्रीय बजट में टीकाकरण के लिए 35 हजार करोड़ घोषित

केंद्रीय बजट में इस बार वैक्सीन के लिए 35 हजार करोड़ रुपये घोषित हुए हैं।  बता दें कि 1 करोड़ हेल्थकेयर वर्कर्स और 2 करोड़ फ्रंटलाइन वर्कर्स को लगने वाली वैक्सीन पर कुल 1872.82 करोड़ रुपए खर्च होंगे। इनमें 1392.82 करोड़ रुपए वैक्सीन की खरीद पर खर्च हुए हैं, जबकि 480 करोड़ रुपए ट्रांसपोर्टेशन और स्टोरेज पर खर्च हो रहे हैं। केंद्र सरकार ने ‘कोविशील्ड’ की एक डोज 210 रुपए, जबकि ‘कोवैक्सीन’ की 1 डोज 295 रुपए में खरीदी है।

70 लाख टीके लग चुके, 1 करोड़ फ्रंटलाइन वर्कर्स ने कराया है रजिस्ट्रेशन

भारत में 70 लाख लोगों को टीके लग चुके हैं। अब सभी राज्यों में फ्रंटलाइन वर्कर्स को भी टीके लगने शुरू हो चुके हैं। सरकार देशभर में 2 करोड़ फ्रंटलाइन वर्कर्स मानकर चल रही हैं। हालांकि, अब तक 1 करोड़ फ्रंटलाइन वर्कर्स ने ही टीके के लिए रजिस्ट्रेशन कराया है।

अलग-अलग आयु वर्ग बनाने पर विचार हो रहा

50 साल के ऊपर के 27 करोड़ लोगों को अलग-अलग आयुवर्ग में रखने का विचार है। जैसे- 50 से 55, 56 से 60, 61 से 65, 66 से 70 और फिर 71 से ऊपर। पहले 71 से ज्यादा उम्र के लोगों को टीका लगेगा या 50 के ऊपर के सभी लोगों को एक साथ लगेगा, इसकी रूपरेखा आखिरी दौर में है। हालांकि, अंतिम फैसला राज्यों से मिलने वाले सुझावों के बाद ही लिया जाएगा।