दिल्ली में बढ़े कोरोना केस, AIIMS डायरेक्टर गुलेरिया ने हर्ड इम्युनिटी को लेकर कही बड़ी बात, बढ़ेगी टेंशन

 

एम्स के डायरेक्टर रणदीप गुलेरिया की फाइल फोटो।

एम्स डायरेक्टर रणदीप गुलेरिया ने कोरोना को लेकर बड़ी बात कही है। उन्होंने समाचार एजेंसी एएनआइ से बात करने के दौरान कहा कि हर्ड इम्युनिटी को लेकर लोगों को अपनी सोच बदलनी होगी। चिंता करने वाली बात यह है कि इसे पाना संभव नहीं है।

नई दिल्ली, एएनआइ। देश के सबसे बड़े अस्पताल एम्स के डायरेक्टर रणदीप गुलेरिया ने एक बार फिर से कोरोना को लेकर बड़ी बात कही है। उन्होंने समाचार एजेंसी एएनआइ से बात करने के दौरान कहा कि हर्ड इम्युनिटी को लेकर लोगों को अपनी सोच बदलनी होगी। चिंता करने वाली बात यह है कि इसे (हर्ड इम्युनिटी) पूरी तरह पाना संभव नहीं है। इसे प्रैक्टिकल लाइफ में भारत जैसे देश में सोचना मुश्किल है वह भी जब यहां पर कोरोना के अलग-अलग स्ट्रेन परेशानी का सबब बन रहे हैं।

रणदीप गुलेरिया के बयान से बढ़ सकती है टेंशन

बता दें कि भारत में कोरोना के केस में बढ़ोतरी देखी जा रही है। देश के पांच राज्यों में महाराष्ट्र, केरल, छत्तीसगढ़, मध्यप्रदेश और पंजाब में केस बढ़ रहे हैं। वहीं दिल्ली में भी बीते कुछ दिनों से केस बढ़ रहे हैं। हालांकि यहां पर अभी भी मामला चिंताजनक नहीं है। इधर, महाराष्ट्र के केस बढ़ते ही अमरावती में लॉकडाउन लगा दिया गया है। पुणे में स्कूल कॉलेज बंद कर दिया गया है। सरकार नाइट कर्फ्यू लगाने पर विचार कर रही है। देश में कोरोना के नए स्ट्रेन से टेंशन बढ़ने लगी है। ऐसे में यह ज्यादा संक्रामक हो सकता है। इसी पर एम्स प्रमुख डॉ. रणदीप गुलेरिया ने यह आशंका जताई है कि कोरोना के प्रति हर्ड इम्युनिटी एक मिथक है।

दिल्ली में कोरोना के एक्टिव मरीजों की संख्या में हो रही वृद्धि

दिल्ली में कोरोना के केस में बढ़ोतरी तो मामूली है मगर जानकार डॉक्टर बताते हैं कि यह लापरवाही आने वाले समय में भारी पड़ने वाली है। रविवार को भी कोरोना के संक्रमित 145 मरीज मिले हैं। वहीं ठीक होने वालों की संख्या करीब 97 रही। दो मरीजों की कोरोना के कारण मौत भी दर्ज की गई है। स्वास्थ्य विभाग की रिपोर्ट के अनुसार दिल्ली में अब तक कुल छह लाख 37 हजार 900 मामले आ चुके हैं। इनमें से छह लाख 25 हजार 929 मरीज ठीक हो चुके हैं। दिल्ली में सक्रिय मरीजों की संख्या 1025 से बढ़कर 1071 हो गई है।

क्या करने की है जरूरत

लोगों की लापरवाही से कोरोना के केस बढ़ रहे हैं। ऐसे में आपको फिर से सतर्कता बढ़ाने की जररूत है। सार्वजनिक जगहों पर मास्क का इस्तेमाल करना ही चाहिए। किसी प्रकार की लापरवाही से आप कोरोना संक्रमित हो सकते हैं। सैनिटाइज हमेशा पास में रखें। समय-समय पर इसका इस्तेमाल करें।