एनआइए ने बनिहाल कार बम धमाके के जिम्मेदार आतंकी नवीद बाबू के खिलाफ आरोप पत्र दायर किया


आतंकी नवीद बाबू के खिलाफ बनिहाल कार बम धमाके में एनआइए की विशेष अदालत में एक पूरक आरोप पत्र दायर।
राष्ट्रीय जांच एजेंंसी (एनआइए) ने शनिवार को आतंकी नवीद बाबू के खिलाफ बनिहाल कार बम धमाके के सिलसिले में एनआइए की विशेष अदालत में एक पूरक आरोप पत्र दायर किया है। आतंकी नवीद बाबू को 11 जनवरी 2020 को श्रीनगर-जम्मू राष्ट्रीय राजमार्ग पर काजीगुंड के पास गिरफ्तार किया था।

जम्मू, राज्य ब्यूरो। राष्ट्रीय जांच एजेंंसी (एनआइए) ने शनिवार को आतंकी नवीद बाबू के खिलाफ बनिहाल कार बम धमाके के सिलसिले में एनआइए की विशेष अदालत में एक पूरक आरोप पत्र दायर किया है। आतंकी नवीद बाबू को 11 जनवरी 2020 को जम्मू कश्मीर पुलिस ने श्रीनगर-जम्मू राष्ट्रीय राजमार्ग पर काजीगुंड के पास गिरफ्तार किया था। उसके साथ दो आतंकी और जम्मू-कश्मीर पुलिस का एक डीएसपी देवेंद्र सिंह भी पकड़ा गया था। यह सभी एक कार में सवार होकर कश्मीर से जम्मू आ रहे थे।

एनआइए  के प्रवक्ता ने बताया कि हिज्ब आतंकी नवीद मुश्ताक शाह उर्फ नवीद बाबू उर्फ बाबू आजम के खिलाफ जम्मू स्थित एनआइए अदालत में राष्ट्रद्रोह, हिंसा, हत्या का प्रयास और सार्वजनिक संपत्ति को नुक्सान पहुंचाने की विभिन्न धाराओं के तहत बनिहाल कार बम हमले को लकर पूरक आरोप पत्र दायर किया है।

उन्होंने बताया कि 30 मार्च 2019 काे जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग पर बनिहाल औेर जवाहर सुरंग के बीच टठर में एक आतंकी ने विस्फोटक से लदी कार के साथ सीआरपीएफ के काफिले पर हमला करने का प्रयास किया था। लेकिन वह नाकाम रहा था। हमलावर आतंकी काें जिंदा पकड़ लिया गया था। इस सिलसिले में बनिहाल पुलिस स्टेशन में एक मामला दर्ज किया गया था । एनआइए ने इस मामले की जांच 15 अप्रैल 2019 को जम्मू कश्मीर पुलिस से अपने पास ली थी। इस मामले में एनआइए पहले ही हिजबुल मुजाहिदीन के 6 आतंकियों के खिलाफ आरोप पत्र दायर कर चुकी है। नवीद बाबू जम्मू कश्मीर पुलिस का एक भगौड़ा कांस्टेबल है। वह 2017 में बड़गाम स्थित भारतीय खाद्य निगम में तैनात जम्मू कश्मीर पुलिस के दस्ते का हिस्सा था। वह वहां से सरकारी राइफल और कारतूस लेकर हिजबुल मुजाहिदीन में शामिल हो गया था।

एनआइए के प्रवक्ता ने बताया कि जांच के दौरान पता चला कि नवीद मुश्ताक भी बनिहाल में सीआरपीएफ काफिले पर कार बम हमले की साजिश को तैयार करने व उसे अमली जामा पहनाने मेें शामिल था। उसके साथ इस साजिश में रियाज अहमद नाइकू, रईम अहमद खान और डाॅ सैफुल्ला मीर भी शामिल थे। ये तीनाें आतंकी अलग-अलग मुठभेड़ों में मारे जा चुके हैं। इसके अलावा आतंकी साहिल अब्दुल्ला बट, आदिल बशीर शेख और जुबैर अहमद वानी भी आइईडी तैयार करने में शामिल थे। ये तीनों भी मारे जा चुके हैं।