राहुल गांधी बोले, कृषि कानून लागू होने से बढ़ेगी बेरोजगारी

 

अजमेर में कांग्रेस नेता राहुल गांधी। फाइल फोटो

राहुल गांधी ने कहा कि अगर तीन कृषि कानून लागू हो गए तो देश में बेरोजगार बढ़ेगी किसी युवा को रोजगार नहीं मिलेगा। इनसे देश को नुकसान होने वाला है। पीएम कहते हैं कृषि कानून वैकल्पिक है लेकिन ये भूख बेरोजगार और आत्महत्या का ऑप्शन है।

जयपुर, संवाददाता।  राजस्थान यात्रा के दूसरे दिन शनिवार को कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कहा कि अगर तीन कृषि कानून लागू हो गए तो देश में बेरोजगार बढ़ेगी, किसी युवा को रोजगार नहीं मिलेगा। इनसे देश को नुकसान होने वाला है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि पीएम कहते हैं कृषि कानून वैकल्पिक है, लेकिन ये भूख, बेरोजगार और आत्महत्या का ऑप्शन है। उन्होंने कहा कि देश का सबसे बड़ा व्यापार 40 लाख करोड़ कृषि का है। इससे देश के 40 फीसदी लोग जुड़े हुए हैं। इनमें किसान, छोटे व्यापारी और मजदूर शामिल हैं। पीएम मोदी चाहते हैं यह व्यापार 40 फीसद लोगों से लेकर उनके दो मित्रों के हवाले हो जाए। देश का 40 फीसदी व्यापार सिर्फ दो लोगों के हाथ में चला जाए, लेकिन देश का किसान कह रहा है हम मर जाएंगे, लेकिन यह कभी नहीं होने देंगे।

नागौर में राहुल गांधी ने पीएम मोदी पर साधा निशाना

राजस्थान के नागौर में राहुल गांधी ने कहा कि कोरोना के समय मजदूरों ने हाथ जोड़कर नरेंद्र मोदी से रेल, बस की टिकट मांगी, मतलब 100-200 रुपये मांगे। नरेंद्र मोदी कहते हैं कि मैं एक रुपया नहीं दूंगा, मगर उसी समय नरेंद्र मोदी ने 1,50,000 करोड़ का हिंदुस्तान के सबसे अमीर लोगों का कर्जा माफ किया। राहुल ने कहा कि 200 किसान शहीद हुए लेकिन लोकसभा, राज्यसभा में सांसद दो मिनट के लिए मौन खड़े नहीं हुए। इसलिए मैंने कहा कि मैं अपने भाषण के बाद अकेले दो मिनट के लिए शांत खड़ा हो जाऊंगा और जो साथ खड़ा होना चाहता है हो जाए। विपक्ष के सब लोग खड़े हुए लेकिन भाजपा का एक आदमी खड़ा नहीं हुआ।

राजस्थान यात्रा के दूसरे दिन शनिवार को अजमेर जिले के रूपनगढ़ में ट्रैक्टर-ट्रॉली पर हुई सभा में राहुल गांधी ने कहा कि प्रधानमंत्री किसानों से बात करने के लिए कहते हैं, लेकिन जब तक तीनों कानून वापस नहीं होंगे, किसान तब तक कोई बात नहीं करेगा। ट्रैक्टर-ट्रॉली पर बने मंच से किसानों को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने कहा कि तीनों कानूनों का लक्ष्य किसान, मजदूर और छोटे व्यापारी को नुकसान पहुंचाना है। एक दिन पहले प्रदेश के श्रीगंगानगर व हनुमानगढ़ जिलों में दिए गए अपने भाषण को दोहराते हुए राहुल गांधी ने कहा कि मैं किसानों के बीच तीनों नये कृषि कानूनों के बारे में बात करने आया हूं। तीनों कृषि कानूनों का लक्ष्य समझाने आया हूं। पहले कानून का लक्ष्य मंडी को खत्म करना है। पहले कानून से बड़े उद्योगपति चाहे जितना अनाज, सब्जी और फल स्टॉक कर सकेंगे। अगर ऐसा हुआ तो मंडी खत्म हो जाएगी। दूसरे कानून का लक्ष्य जमाखोरी बढ़ाना है। तीसरा कानून यह है कि अगर कोई किसान देश के उद्योगपतियों के पास जाकर सही दाम मांगेगा तो वह अदालत में नहीं जा सकेगा। रूपनगढ़ ट्रैक्टर रैली से कुछ ही दूर वे अपनी कार से उतरे और फिर खुद ट्रैक्टर चलाकर रैली स्थल पर पहुंचे। इस दौरान ट्रैक्टर पर उनके साथ मुख्यमंत्री अशोक गहलोत भी सवार थे। रैली में करीब एक हजार ट्रैक्टर-ट्रॉलियों पर सवार होकर लोग राहुल गांधी को सुनने पहुंचे।

तेजाजी मंदिर में पूजा की

शुक्रवार को रात्रि विश्राम श्रीगंगानगर में करने के बाद राहुल गांधी शनिवार को किशनगढ़ हवाई अड्डे पर पहुंचे। यहां से वे सीधे सुरसरा गांव स्थित लोकदेवता तेजाजी मंदिर गए। मंदिर में पूजा-अर्चना करने के साथ ही मंदिर में भोग लगाकर दीपक जलाया। रूपनगढ़ रैली स्थल पर कुछ लोगों ने सचिन पायलट के समर्थन में नारेबाजी की।