एक हार के साथ टूट जाएगा भारत के टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल में पहुंचने का सपना
भारतीय क्रिकेट टीम के खिलाड़ी- फोटो ट्विटर पेज

भारत के लिए पहला मैच हारने के बाद फाइनल की डगर मुश्किल हो गई है। सीरीज का पहला टेस्ट इंग्लैंड ने 227 रन से जीता था और अब भारत को फाइनल में पहुंचने लिए दूसरा मैच हर हाल में जीतना होगा या कम से कम ड्रॉ कराना पड़ेगा।

नई दिल्ली। भारत और इंग्लैंड के बीच खेली जा रही चार मैचों की सीरीज काफी अहम है। आईसीसी टेस्ट चैंपियनशिफ फाइनल में पहुंचने वाली दूसरी टीम का फैसला इस सीरीज के बाद होना है। भारत के लिए पहला मैच हारने के बाद फाइनल की डगर मुश्किल हो गई है। सीरीज का पहला टेस्ट इंग्लैंड ने 227 रन से जीता था और अब भारत को फाइनल में पहुंचने लिए दूसरा मैच हर हाल में जीतना होगा या कम से कम ड्रॉ कराना पड़ेगा।

शनिवार को भारत और इंग्लैंड के बीच सीरीज का दूसरा मैच शुरू हो रहा है। एमए चिदंबरम स्टेडियम में खेला जाने वाले इस मैच में भारत को जीत हासिल करना जरूरी है। सीरीज का पहला मैच भारत हार चुका है और अब बाकी के बचे तीन मुकाबलों में से उसे दो मैच में जीत हासिल करना है। न्यूजीलैंड की टीम टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में पहुंच चुकी है और अब भारत, इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया में से एक टीम ही फाइनल में पहुंचेगी।

टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल का टिकट

फाइनल में पहुंचने के लिए भारतीय टीम को सीरीज में कम से कम दो मैच जीतने होंगे साथ ही इस बात का भी ध्यान रखना होगा कि इंग्लैंड एक भी मैच ना जीते। सीरीज का नतीजा 2-1 या 3-1 होना चाहिए वर्ना भारत का फाइनल में पहुंचना मुश्किल होगा। अगर इंग्लैंड को फाइनल में पहुंचना है तो उसे 3-0, 3-1 या फिर 4-0 से जीत हासिल करना होगा।

ऑस्ट्रेलिया की टीम के पास भी मौका

अगर सीरीज का नतीजा 1-0, 2-0 या 2-1 से इंग्लैंड के हक में जाता है तो ऑस्ट्रेलिया की टीम फाइनल में पहुंच जाएगी। यहीं सीरीज अगर 1-1 या 2-2 की बराबरी पर भी खत्म होता है फिर भी ऑस्ट्रेलिया की टीम फाइनल में पहुंच जाएगी। लॉड्स में 18 जून से 22 जून के बीच टेस्ट चैंपियनशिप का फाइनल मैच खेला जाना है।