प्रधानमंत्री ने छात्रों को दिए परीक्षा के मंत्र, कहा- वॉरियर बनें, वरीयर नहीं

 

पीएम ने मन की बात कार्यक्रम में छात्रों को किया संबोधित

 प्रधानमंत्री ने छात्रों से कहा कि वे हंसते हुए एग्जाम में जाएं और मुस्कुराते हुए लौटें। ध्यान रखें कि आपको किसी और से नहीं बल्कि स्वयं से ही स्पर्धा करनी है। नरेंद्र मोदी ने छात्रों से कहा कि उन्हें वॉरियर बनना है वरीयर नहीं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को अपने रेडियो कार्यक्रम मन की बात के 74वें संस्करण को संबोधित किया। इस दौरान प्रधानमंत्री ने युवा छात्रों की आगामी वार्षिक परीक्षाओं के संबंध में भी चर्चा की। प्रधानमंत्री ने छात्रों को संबोधित करते हुए कहा कि आने वाले कुछ महीने स्टूडेंट्स के लिए बहुत खास महत्व रखते हैं। छात्रों को चिंतित होने की बजाए, एक वॉरियर की तरह परीक्षाओं की तैयारी करनी चाहिए। 

प्रधानमंत्री ने छात्रों से कहा कि वे हंसते हुए एग्जाम में जाएं और मुस्कुराते हुए लौटें। ध्यान रखें कि आपको किसी और से नहीं, बल्कि स्वयं से ही स्पर्धा करनी है। नरेंद्र मोदी ने छात्रों से कहा कि उन्हें वॉरियर बनना है, वरीयर नहीं। उन्होंने आगे कहा कि छात्रों को परीक्षा की तैयारी के लिए पूर्वाभ्यास करने चाहिए और याद करने के कुशल तरीके अपनाने चाहिए। प्रधानमंत्री ने कहा कि छात्रों को पर्याप्त नींद भी लेनी चाहिए और पढ़ाई के साथ-साथ खेल भी आवश्यक है। उन्होंने कहा कि खेलना नहीं छोड़ना है, याद रखें कि जो खेले, वही खिले। 

प्रधानमंत्री ने बताया कि महामारी के दौर में भी कुछ समय निकाल कर एग्जाम वॉरियर बुक में कई नए मंत्र जोड़ दिए गए हैं। इन मंत्रों से जुड़ी बहुत सारी दिचस्प गतिविधियां नरेंद्र मोदी ऐप पर साझा की गई हैं, जो आपके अंदर के एग्जाम वॉरियर को जाग्रत करने में मदद करेंगी। पीएम ने बताया कि वे मार्च में 'परीक्षा पे चर्चा' कार्यक्रम को संबोधित करेंगे। प्रधानमंत्री ने एग्जाम वॉरियर्स, टीचर्स और पेरेंट्स से अपील की है कि मार्च में आयोजित होने वाली ‘परीक्षा पे चर्चा’ कार्यक्रम से पहले अपने अनुभव और टिप्स MyGov और Narendra Modi ऐप पर शेयर करें। पीएम ने आगामी वार्षिक परीक्षाओं को लेकर सभी छात्रों को शुभकामना भी दी है। गौरतलब है कि इस वर्ष कोरोना वायरस महामारी को ध्यान में रखे हुए 'परीक्षा पे चर्चा' कार्यक्रम का आयोजन ऑनलाइन किया जाएगा।