सन अस्पताल को बंद करने के लिए कटक जिलाधीश का सख्त निर्देश, सभी निजी अस्‍पतालों की होगी जांच


कटक के बीजू पटनायक चौक पास मौजूद सन अस्पताल को बंद करने का आदेश

सन अस्‍पताल को बंद करने के लिए कटक जिलाधीश ने सख्‍त आदेश दिए हैं तथा अन्‍य निजी अस्‍पतालों की भी जांच की जाएगी। 1 फरवरी को सन अस्पताल में अचानक आग लग गई थी। जिससे लाखों का सामान जलकर स्‍वाहा हो गया था।

कटक,  संवाददाता। कटक के बीजू पटनायक चौक पास मौजूद सन अस्पताल  को बंद करने के लिए कटक के जिलाधीश भवानी शंकर चयनी ने निर्देश जारी किया है। पिछले 1 फरवरी को इस अस्पताल में आग लगने के पश्चात अस्पताल के अधिकारी को कारण बताओ नोटिस जारी कर जवाब मांगा गया था। लेकिन अस्पताल की ओर से किसी भी तरह की संतोषजनक जवाब ना मिलने हेतु कटक के जिलाधीश भवानी शंकर चयनी ने यह सख्त कदम उठाया है। 

 निजी अस्पतालों में फायर सेफ्टी व्यवस्था की होगी जांच

कटक के जिलाधीश बुधवार को गण माध्यम को दिए जानकारी के मुताबिक, इस अस्पताल में किसी भी तरह का फायर सेफ्टी लाइसेंस नहीं था। जिसके चलते इस अस्पताल को बंद करने के लिए निर्देश दिये गए हैं। आगे भी कटक शहर में मौजूद दूसरे निजी अस्पतालों की जांच की जाएगी। एक टीम के जरिए तमाम निजी अस्पतालों में मौजूद फायर सेफ्टी व्यवस्था की कड़े तौर पर जांच की जाएगी। अगर किसी भी अस्पताल में खामी नजर आयी तो निश्चित तौर पर जिला प्रशासन की ओर से कार्रवाई की जाएगी। 

 क्‍या था मामला

गौरतलब है कि फरवरी 1 तारीख मध्यान्ह को सन अस्पताल में अचानक आग लग गई थी। अस्पताल के पांचवें मंजिला में मौजूद अस्पताल का दफ्तर और कैंटीन से अचानक धुआं उठना शुरू हुआ था और देखते ही देखते वहां पर मौजूद सामान आग के चपेट में आकर खाक हो गई थी। जिसके पश्चात तुरंत दमकल विभाग को खबर दी गई थी और दमकल विभाग के करीब 7 गाड़ी के साथ-साथ 50 से दमकल कर्मचारी मौके पर पहुंच कर घंटों मशक्कत करने के बाद आग पर काबू पाया जा सका। इस घटना के पश्चात जिला प्रशासन अस्पताल की जांच पड़ताल शुरू की थी। यहां तक की अग्निशम विभाग की ओर से एक स्वतंत्र टीम द्वारा आग लगने की वजह की जांच की गई थी रिपोर्ट सरकार को सौंपी गई थी। आग लगने की वजह शॉर्ट सर्किट होने की बात जांच में  सामने आयी थी।