वॉलीबॉल रेफरी बनने वाली प्रदेश की पहली महिला खिलाड़ी बनीं भावना

 

त्रिकुटा वॉलीबॉल क्लब से खेल के करियर की शुरुआत करने वाली भावना गाडीगढ़ की रहने वाली हैं।

केंद्रशासित प्रदेश की सीनियर नेशनल वॉलीबॉल खिलाड़ी भावना शर्मा ने प्रदेश के नाम को चार चांद लगाने का काम किया है। भावना ने वॉलीबॉल फेडरेशन ऑफ इंडिया द्वारा आयोजित रेफरी की परीक्षा में शतप्रतिशत अंक हासिल कर प्रदेश की पहली महिला खिलाड़ी बनने का गौरव हासिल किया है।

जम्मू,  संवाददाता। भावना ने वॉलीबॉल फेडरेशन ऑफ इंडिया द्वारा आयोजित रेफरी परीक्षा में शत प्रतिशत अंक हासिल किये हैं। ऐसा करने वाली वह प्रदेश की पहली महिला खिलाड़ी हैं।

वॉलीबॉल फेडरेशन ऑफ इंडिया द्वारा आयोजित रेफरी परीक्षा ओडिशा के भुवनेश्वर में दो जनवरी 2020 को हुई थी। कोरोना की वजह से इसका परिणाम कुछ दिन पहले ही घोषित किया गया है।भावना ने बताया कि उन्हें परीक्षा उत्तीर्ण संबंधित सर्टिफिकेट आज यानि बुधवार को प्राप्त हुआ है। इसको लेकर वह काफी उत्साहित हैं। रेफरी की परीक्षा उत्तीर्ण करने के उपरांत अब वह आगामी राष्ट्रीय स्तरीय वॉलीबॉल प्रतियोगिताओं में रेफरी की भूमिका में नजर आएंगी।

त्रिकुटा वालीबॉल क्लब से अपने वालीबॉल खेल के करियर की शुरूआत करने वाली भावना शहर के बाहरी क्षेत्र गाडीगढ़ की रहने वाली हैं। उन्होंने अपनी सफलता का श्रेय अपने गुरु एवं वालीबॉल कोच मुल्ख राज शर्मा को दिया। उन्होंने कहा कि आज वह सफलता के जिस मुकाम पर पहुंची है वह सही मायनों में कोच के उचित मार्गदर्शन का ही नतीजा है। उन्होंने रेफरी कोर्स के लिए वालीबॉल एसोसिएशन ऑफ जम्मू-कश्मीर के पदाधिकारियों राज दलुजा, कुलदीप मगोत्रा ओर सिद्धार्थ दलुजा का भी मुख्य रूप से आभार जताया है।गौरतलब है कि भावना शर्मा पिछले आठ वर्षों से राज्य और राष्ट्रीय स्तरीय प्रतियोगिताओं में भाग लेकर अपनी प्रतिभा साबित कर चुकी हैं। भावना खेल में अपना भविष्य संवारना चाहती हैं। उन्होंने बीपीएड और एमपीएड की शिक्षा भी हासिल की है।

इसी बीच प्रदेश के एक अन्य राष्ट्रीय वॉलीबॉल खिलाड़ी अनिल कुमार ने भी सफलतापूर्वक वालीबॉल रेफरी का कोर्स उत्तीर्ण कर लिया है। अनिल दो यूथ नेशनल वॉलीबॉल प्रतियोगिताओं सहित राज्य स्तरीय प्रतियाेगिताओं में भाग ले चुके हैं।

त्रिकुटा वॉलीबॉल क्लब के चेयरमैन अमरजीत सिंह और प्रधान मनप्रीत कौर ने भावना और अनिल को इस शानदार उपलब्धि के लिए मुबारकबाद दी है। उन्होंने उम्मीद जताई कि दोनों खिलाड़ी अब रेफरी के रूप में सफलता की बुलंदियों को हासिल करने में कामयाब रहेंगे।