दिल्ली पुलिस में तैनात एएसआइ ने सर्विस पिस्टल से गोली मारकर की आत्महत्या

 

एएसआइ ने सर्विस पिस्टल से बाईं ओर छाती में गोली मार ली।

जखीरा फ्लाईओवर के पास पीसीआर वैन चालक ने वैन खड़ी की थी। चालक जब वैन से बाहर निकले तो उस दौरान एएसआइ तेजपाल फोन पर बात कर रहे थे। थोड़ी देर बाद ही उन्होंने अपनी सर्विस पिस्टल निकालकर बाईं ओर छाती में गोली मार ली।

नई दिल्ली। मोती नगर थाना क्षेत्र स्थित जखीरा इलाके में पीसीआर यूनिट में तैनात दिल्ली पुलिस के एएसआइ तेजपाल ने अपनी सर्विस पिस्टल से गोली मारकर आत्महत्या कर ली। आशंका जताई जा रही है कि घरेलू कलह के चलते एएसआइ ने यह कदम उठाया। पुलिस जांच में सामने आया है कि घटना से पहले घरवालों से फोन पर एएसआइ की बात हुई थी। पुलिस मामले की छानबीन में जुटी हुई है। पुलिस को सुसाइड नोट नहीं मिला है। तेजपाल ने 1986 में दिल्ली पुलिस में नौकरी शुरू की थी। परिवार में पत्नी के अलावा गोद लिया एक नौ साल का बेटा है।

जानकारी के मुताबिक मूलरूप से गाजियाबाद के लोनी स्थित बेहटा हाजीपुर व वर्तमान में गाजियाबाद के राजनगर में परिवार के साथ रहने वाले तेजपाल वर्तमान में पीसीआर यूनिट के पश्चिमी जोन में तैनात थे। उनकी ड्यूटी शुक्रवार रात आठ बजे से शनिवार सुबह आठ बजे तक की थी।

इस दौरान वे पश्चिमी जिला के मोती नगर इलाके में गश्त पर थे। शनिवार सुबह सात बजे जखीरा फ्लाईओवर के पास पीसीआर वैन चालक ने वैन खड़ी की थी। चालक जब वैन से बाहर निकले तो उस दौरान तेजपाल फोन पर बात कर रहे थे। थोड़ी देर बाद ही उन्होंने अपनी सर्विस पिस्टल निकालकर बाईं ओर छाती में गोली मार ली। गोली की आवाज सुनते ही चालक व आसपास के लोग वैन के पास पहुंचे तो देखा कि तेजपाल लहूलुहान होकर निढ़ाल पड़े हुए हैं।

इसके बाद घटना की जानकारी उच्च अधिकारियों को देने के साथ ही उन्हें लेकर पास के आचार्य भिक्षू अस्पताल ले जाया गया, जहां डाॅक्टरों ने तेजपाल को मृत घोषित कर दिया। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि क्राइम टीम ने मौके से साक्ष्य इकट्ठा कर लिये हैं।

प्रारंभिक छानबीन में घरेलू कलह ही आत्महत्या की वजह सामने आई है। घरेलू कलह की क्या वजह थी इस संबंध में एएसआइ के स्वजन से पूछताछ की जाएगी। उनकी अपनी कोई संतान नहीं है। ऐसे में तेजपाल ने अपने साले के बेटे को गोद लिया था। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि घटना से पहले तेजपाल अपने घरवाले से बात कर रहे थे। इसके बाद अचानक उन्होंने यह कदम उठाया है। ऐसे में पुलिस इस घटना को घरेलू कलह से जोड़कर छानबीन में जुटी हुई है।