अपनी ही पार्टी के अध्यक्ष पर भड़के तेजप्रताप बोले-जगदानंद जैसे लोगों की वजह से लालू यादव बीमार


बिहार की हसनपुर विधानसभा सीट से विधायक तेजप्रताप यादव।

राजद प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह के खिलाफ तेजप्रताप यादव ने मोर्चा खोल दिया है। शनिवार को पार्टी कार्यालय पहुंचे तेजप्रताप ने यहां तक कह दिया कि जगदानंद जैसे लोगों के कारण ही लालू यादव बीमार पड़े हैं। पार्टी अध्यक्ष ऐसा होना चाहिए जो जनता के बीच का हो।

पटना, । बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू यादव के बड़े बेटे तेजप्रताप यादव ने अपनी ही पार्टी के सीनियर नेता के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। शनिवार को पार्टी कार्यालय पहुंचे राष्ट्रीय जनता दल (राजद) नेता तेजप्रताप यादव अचानक राजद प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह के ऊपर भड़क गए। जगदानंद की मौजूदगी में उन्हीं के कमरे के सामने मीडिया से बातचीत के दौरान तेजप्रताप ने यहां तक कह दिया कि जगदानंद सिंह जैसे लोगों के कारण ही लालू यादव बीमार पड़े हैं। 

जनता के बीच का होना चाहिए अध्यक्ष

तेजप्रताप यादव ने कहा कि पार्टी अध्यक्ष ऐसा होना चाहिए जो जनता के बीच का हो। हसनपुर से राजद विधायक तेजप्रताप ने कहा कि अभी स्थिति ये आ गई है कि पार्टी के एमएलए को भी मिलने के लिए अर्जी देनी पड़ती है। ऐसे में आम जनता का क्या होगा? तेजप्रताप ने कहा कि राजद आम लोगों और गरीबों की पार्टी है। तेजप्रताप ने कहा कि जगदानंद तानाशाही कर रहे हैं। उनकी कोशिश पार्टी को बर्बाद करने की है। तेजप्रताप ने कहा कि मैं हसनपुर से राजद विधायक हूं, पिछले एक घंटे से पार्टी कार्यालय में हूं, लेकिन वो मुझे रिसीव करने तक नहीं आए।

आजादी पत्र पर अड़ंगा डालने का आरोप

तेजप्रताप यादव ने कहा कि राजद गरीबों की पार्टी है किंतु जगदानंदअपने अंदाज में पार्टी को चलाना चाह रहे हैं। राजद विधायक ने लालू यादव की रिहाई के लिए जारी अभियान आजादी पत्र में अड़ंगा डालने का भी आरोप लगाया। तेजप्रताप ने कहा कि जगदानंद राजद के किसी बड़े नेता को लिखने नहीं देते। जगदानंद सिंह ने आज तक लालू यादव की रिहाई के लिए आजादी पत्र तक नहीं लिखा है। उन्होंने कहा कि जगदानंद सरीखे नेताओं के चलते ही उनके पिता आज बीमार पड़े हैं। गौरतलब है कि लालू यादव की रिहाई के लिए तेजप्रताप ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को आजादी पत्र भेजा है। इसके लिए उन्होंने अभियान तक चला रखा है।