सृष्टि की जान बचाने को मदद की दरकार, पर‍िजनों ने मुख्‍यमंत्री से लगाई गुहार
पलामू की 14 माह की सृष्टि रानी। जागरण

सृष्टि के मामा अभिषेक और मौसी प्रिया आनंद ने मुख्‍यमंत्री के ओएसडी को सीएम के नाम ज्ञापन सौंपा है। ओएसडी ने कहा कि शनिवार को मुख्‍यमंत्री से मुलाकात हो सकती है। सृष्टि को एक इंजेक्‍शन के लिए 22.5 करोड़ रुपये की दरकार है।

रांची,स्पाइनल मस्कुलर एट्रोफी (एसएमए) जैसी जानलेवा बीमारी से जूझ रही पलामू की 14 माह की सृष्टि रानी की जान बचाने के लिए उसके स्वजनों ने मुख्यमंत्री से गुहार लगाई है। आर्थिक सहायता के लिए स्वजन सोमवार को रांची में मुख्यमंत्री हेमंत सोरने से मिलने पहुंचे। हालांकि, उनकी भेंट मुख्यमंत्री से नहीं हो सकी, लेकिन सृष्टि के मामा अभिषेक और मौसी प्रिया आनंद ने सीएम के ओएसडी (अफसर ऑन स्पेशल ड्यूटी) को मुख्यमंत्री के नाम का ज्ञापन सौंपा है। इससे पहले दोनों सचिवालय गए। संयुक्त सचिव राजकुमार गुप्ता से मुलाकात की। फिर दोनों कांके स्थित मुख्यमंत्री आवास पहुंचे। यहां ओएसडी ने कहा कि शनिवार को मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन से उनकी मुलाकात हो सकती है।

स्वजनों ने बताया कि सृष्टि रानी के बैंक खाते में अब तक 16 लाख 60 हजार रुपये की सहायता राशि एकत्र हुई है। यह राशि पिछले 21 दिनों में 1903 लोगों की मदद से जमा हुई है। सृष्टि को एक इंजेक्शन के लिए 22.5 करोड़ रुपये की दरकार है। यदि केंद्र सरकार आयात शुल्क माफ कर दे, तो भी उसे 16 करोड़ रुपये की जरूरत पड़ेगी। डाक्टरों ने कहा है कि आठ से दस माह के भीतर इंजेक्शन नहीं दिया गया, तो बच्ची को बचाना मुश्किल होगा। 'दैनिक जागरण' और फंड जुटाने वाली संस्था 'इंपैक्ट गुरु' की अपील पर लोग लगातार मदद कर रहे हैं।पलामू जिला के पाटन प्रखंड अंतर्गत कांके कला पंचायत के सिक्की खुर्द गांव निवासी सतीश कुमार रवि की महज 14 माह की बेटी सृष्टि रानी स्पाइनल मस्कुलर एट्रोफी नामक बीमारी से पीड़‍ित है। जान बचाने के लिए उसे 22.5 करोड़ के एक इंजेक्शन की दरकार है। इस इंजेक्शन से यदि केंद्र सरकार आयात शुल्क हटा ले तो भी करीब 16 करोड़ रुपये की जरूरत पड़ेगी।

परिवार इतनी बड़ी रकम जुटाने में अक्षम है। इसलिए बच्ची के पिता ने जान बचाने के लिए मदद की गुहार लगाई है। दैनिक जागरण भी लगातार खबर के जरिए लोगों से मदद की गुहार लगा रहा है। कई लोगों ने मदद भेजी है, लेकिन अबतक बहुत कम रकम एकत्र हो पाया है। सृष्टि के नाम से यश बैंक में खाता खोला गया है। इसका खाता नंबर 700701717189139 है। IFSC Code YESB0CMSNOC है। इसमें कोई भी व्यक्ति ऑनलाइन राशि भेज कर बच्ची की मदद कर सकता है। मालूम हो कि सृष्टि रानी अभी छत्तीसगढ़ के बिलासपुर में अपोलो अस्पताल में भर्ती है। उसे वेंटिलेटर पर रखा गया है।

क्या है स्पाइनल मस्कुलर एट्रोफी

स्पाइनल मस्कुलर एट्रोफी तंत्रिका तंत्र (नर्वस सिस्टम) की बीमारी है, जो सामान्यत: शिशुओं में होती है। इसमें दिमाग और मेरूदंड (स्पाइनल कॉर्ड) की तंत्रिकाओं की कोशिकाएं टूटने लगती हैं। तंत्रिका तंत्र की कोशिकाओं के टूटने से दिमाग मांसपेशियों को संदेश नहीं दे पाता है। इस कारण इस बीमारी से पीडि़त बच्चा अपनी मांसपेशियों पर नियंत्रण नहीं रख पाता है। वह सिर को नियंत्रित नहीं कर पाता है। उसे दूध-पानी या कोई भी तरल पदार्थ पीने, भोजन निगलने और सांस लेने में भी कठिनाई होती है। अगर इलाज नहीं हुआ, तो उम्र बढ़ने के साथ यह बीमारी जानलेवा हो जाती है। इसकी दवा अति महंगी है।'झारखंड की बेटी सृष्टि रानी गंभीर बीमारी से जूझ रही है। उसके इलाज में काफी पैसे की जरूरत है। मैं स्वयं निजी तौर पर सहायता करूंगा। सभी लोग सृष्टि बेटी के इलाज में बढ़ चढ़कर सहयोग करें, ताकि उसे नई जिंदगी मिल सके। हम सबों के बीच में वह हंस खेल सके। जन सहयोग से ही सृष्टि रानी की नई जिंदगी संभव है।'