शोर करने से मना किया तो नाबालिगों ने मां-बेटे पर चाकू से हमला कर किया घायल

 

नाबालिग ने मोईन की मां और बेटे पर चाकू से हमला कर किया घायल।

जाबी बाग थाना क्षेत्र में शुक्रवार देर रात शोर करने से मना करने पर नाबालिगों ने मां-बेटे पर चाकू से हमला कर घायल कर दिया और फरार हो गए। घटना के बाद पुलिस को मामले की जानकारी दी गई। पुलिस ने दोनों को अस्पताल में भर्ती कराया।

नई दिल्ली । पंजाबी बाग थाना क्षेत्र में शुक्रवार देर रात शोर करने से मना करने पर नाबालिगों ने मां-बेटे पर चाकू से हमला कर घायल कर दिया और फरार हो गए। घटना के बाद पुलिस को मामले की जानकारी दी गई। पुलिस ने दोनों को अस्पताल में भर्ती कराया। नाबालिग आरोपित व पीड़ित दोनों डीडीयू कैंप में रहते हैं। पुलिस मामले की छानबीन में जुटी हुई है।

पीड़ित मोईन ने पुलिस को बताया कि डीडीयू कैंप में चार नाबालिग शोर मचा रहे थे। काफी देर तक शोर होने के बाद मोईन की मां अफसाना बाहर निकलीं और नाबालिगों को ऐसा करने से मना किया। इसके बाद चारोंं नाबालिग झगड़ा करने लगे। इस दौरान मोईन घर से बाहर निकला और नाबालिगों को समझाने की कोशिश करने लगा। इस बीच एक नाबालिग ने मोईन की मां पर चाकू से हमला कर दिया। अपनी मां को बचाने जैसे ही मोईन वहां पहुंचा तो नाबालिग ने उसके पैर पर चाकू से हमला कर दिया।

दोनों वहीं गिर पड़े। इसके बाद आरोपित वहां से फरार हो गए। घटना की जानकारी पुलिस को दी गई। मौके पर पहुंची पुलिस दोनों घायलों को लेकर हरि नगर स्थित दीन दयाल उपाध्याय अस्पताल पहुंची जहां उनका ईलाज चल रहा है। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि चारोंं नाबालिग को पकड़ने के लिए टीम बनाई है। जल्द ही इन्हें पकड़ लिया जाएगा।

पिस्तौल दिखाकर तीन बदमाशों ने लूटी कार

वहीं, दिल्ली से सोनीपत आए टैक्सी चालक से गांव मुकीमपुर के पास पिस्तौल दिखाकर तीन बदमाशों ने स्विफ्ट डिजायर कार, मोबाइल व पर्स लूट लिया। सूचना के बाद पहुंची पुलिस ने चालक के बयान दर्ज कर लूट का मुकदमा दर्ज कर लिया है। पुलिस बदमाशों का पता लगाने का प्रयास कर रही है।

पड़ोसी की कार चलाते हैं पीड़ित

मूलरूप से बिहार के जिला मधुबनी के गांव नवनगर व फिलहाल नई दिल्ली में श्रीनिवासपुरी के जनजीवन कैंप क्षेत्र निवासी विनोद कुमार कामत ने बताया कि वह अपने पड़ोस में रहने वाले विवेकानंद कामत की स्विफ्ट डिजायर कार चलाते हैं। वे दिल्ली से सवारी लेकर सोनीपत आए थे। वहां पर उन्होंने तीन युवकों से दिल्ली जाने का रास्ता पूछा। युवकों ने उनसे कहा कि उन्हें भी दिल्ली जाना है। इसके बाद तीनों युवक गांव मुकीमपुर के खेतों में ले गए और कार लूट ली। बाद में मुकीमपुर के दुकानदार राजेश ने उनकी मदद की और पुलिस को घटना की सूचना दी गई।