जिसकी माइक्रोचिप उसकी भैंस समेत बजट में हुए ये अहम एलान

वार्ड के विकास कार्यों के लिए 1.5 करोड़ रुपये का बजट आवंटित करने का प्रावधान है।

उत्तरी दिल्ली नगर निगम के अधिकार क्षेत्रों के अंतर्गत 12 मीटर तक ऊंचे गेस्ट हाउस को अब बिना दिल्ली फायर सर्विस के अनापत्ति प्रमाण पत्र (एनओसी) के उन्हें हेल्थ लाइसेंस जारी करने का निर्णय लिया है।

नई दिल्ली । उत्तरी दिल्ली नगर निगम के लिए नेता सदन योगेश वर्मा ने वर्ष 2020-21 के संशोधित बजट अनुमान तथा वर्ष 2021-22 के बजट अनुमानों के लिए घोषणाएं की हैं। वहीं, सदन में विपक्षी दल आम आदमी पार्टी और कांग्रेस कार्यकर्ता विरोध जता रहे हैं। 

ये हैं बजट की अहम बातें

  •  वर्ष 2021-22 में प्रत्येक निगम पार्षद को उनके वार्ड के विकास कार्यों के लिए 1.5 करोड़ रुपये का बजट आवंटित करने का प्रावधान है।
  •  पार्षदों के लिए निगम द्वारा मान्य अस्पतालों व लैबों आदि में बिना कोई आर्थिक बोझ डाले उन्हें CGHS/DGHS की दर पर स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध कराना है।
  •  औद्योगिक क्षेत्र के अंदर सभी तलों पर फैक्ट्री लाइसेंस की सुविधा होगी।
  • औद्योगिक क्षेत्रों के अंतर्गत सभी तलों पर फैक्ट्री लाइसेंस देने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। इस प्रक्रिया को सरल बनाते हुए सिर्फ चार दस्तावेजों की आवश्यक्ता होगी।

 12 मीटर तक के ऊंचे गेस्ट हाउस को हेल्थ लाइसेंस प्रदान करना उत्तरी दिल्ली नगर निगम के अधिकार क्षेत्रों के अंतर्गत 12 मीटर तक ऊंचे गेस्ट हाउस को अब बिना दिल्ली फायर सर्विस के अनापत्ति प्रमाण पत्र (एनओसी) के उन्हें हेल्थ लाइसेंस जारी करने का निर्णय लिया है।

 अनधिकृत आवारा पशुओं के खिलाफ कदम

उत्तरी दिल्ली नगर निगम ने अपने अधिकार क्षेत्रों में अनधिकृत रूप से पशुओं को रखने वाले व्यक्तियों द्वारा आवारा पशुओं की समस्या पैदा करने पर राष्ट्रीय हरित प्राधिकरण (एनजीटी) के आदेशों के अनुपालन में 5 हजार रुपये प्रति घटना और प्रति दिन के हिसाब से पर्यावरणीय क्षतिपूर्ति के रूप में जुर्माना वसूला जाएगा।

जिसकी माइक्रोचिप उसकी भैंस

उत्तरी दिल्ली नगर निगम के क्षेत्र को आवारा पशु की समस्या से मुक्त करने के लिए एक प्रस्ताव स्थायी समिति द्वारा पारित किया गया है। इसमें पशुओं पर माइक्रोचिप लगेगी, जिससे उसके मालिक की पहचान हो सके।

निगम के रिक्त स्थानों पर मोबाइल टावर्स को किराये पर देना

निगम के समस्त जोनों के अंतर्गत कुल 850 स्थानों के लिए निविदाएं आमंत्रित की गई हैं।

निगम द्वारा आधार पंजीकरण केंद्र की स्थापना

निगम अपने कार्यालयों व स्वास्थ्य संस्थानों में आधार पंजीकरण केन्द्र खोलन जा रहे हैं जिससे दिल्ली की जनता को काफी सहुलियत होगी।

स्मार्ट पोल्स की स्थापना

वर्तमान में निगम क्षेत्र के अंदर 20 स्मार्ट पोल्स स्थापना की जाने के लिए प्रक्रियाधीन है। इस योजना से भी निगम को नियमित आय होगी।

खाली पड़े ढलावों का जनहित में सदुपयोग

उत्तरी दिल्ली नगर निगम के अंतर्गत विभिन्न क्षेत्रों में बेकार व जर्जर हालत में पड़े ढलावों तथा कॉम्पेक्टर लगाने के बाद खाली हुए ढलावों के स्थान पर डिस्पेंसरी, वरिष्ठ नागरिक केन्द्र, लाईबे्ररी, जिम, कॉफी शॉप व साइबर कैफे आदि का विकास।

 निगम विद्यालयों में एटीएम व शौचालय की व्यवस्था

निगम ने विद्यालय परिसरों का सदुपयोग करते हुए विद्यालयों के बाहर ए.टी.एम./स्मॉल ब्रांच की सुविधा।निगम पार्को में मिल्क बूथ/क्योस्क लगाने की योजना निगम के आधे एकड़ के पार्क में मिल्क बूथ/क्योस्क लगाए जाने का प्रस्ताव है। क्योस्क लगाने के बदले में वेंडर को पार्कों का रखरखाव करेगा।

निगम पार्कों में नर्सरी की व्यवस्था

निगम के बड़े पार्को में मासिक किराये के आधार पर नर्सरी बनाने के लिए प्राइवेट वेन्डर (मालियों) को जगह उपलब्ध करायी जाएगी जिससे निगम को हर माह एक निश्चित आय होगी और पार्कों का रख-रखाव होगा।

 ई-बाइक्स की व्यवस्था

दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण को देखते हुए ऐतिहासिक, मार्केट स्थलों व अन्य सुविधाजनक स्थानों पर जनता की सुविधा के लिए ई-बाईक्स की व्यवस्था की जाएगी।

 पार्किंग में ई-चार्जिंग स्टेशन की स्थापना

निगम पार्किंग के अंदर 15 से 20 गाड़ियों का ई-चार्जिंग स्टेशन की स्थापना की जाएगी, जिससे भी निगम को आय की प्राप्त होगी और प्रदूषण नियंत्रण करने में मदद मिलेगी।

कॉल ड्राप से निपटने की तैयारी

कॉल ड्रॉप की समस्या के निवारण एवं बेहतर नेटवर्क सुविधा के लिए मोबाइल टावर ऑन व्हील पॉलिसी  कॉल ड्राप की समस्या के निवारण एवं बेहतर नेटवर्क सुविधा के लिए निगम की संपत्तियों की छतों पर मोबाइल टावर एवं सेल टावर्स ऑन व्हील लगाने की योजना है।

 गोपराली का निर्माण

पराली और गाय के गोबर को मिश्रित करके गोपराली में परिवर्तित कर फ्यूल केक बनाया जाएगा। जिसका इसका उपयोग अंतिम संस्कार के लिए किया जा सकेगा।

योग कक्षाओं की शुरुआत

बच्चों में स्वास्थ्य के प्रति जागरूकता लाने के लिए निगम विद्यालयों में योग कक्षाएं शुरू की जाएंगी।

स्पोर्टस् एकेडमी की स्थापना

बच्चों में खेल के प्रति रूझान बढ़ाने के लिए निगम के रानी झांसी स्टेडियम में पीपीपी मॉडल व आउटसोर्सिंग के आधार पर स्पोर्टस् एकेडमी की स्थापना।

पुरानी, डंप गाड़ियों व जब्त हुए सामानों की नीलामी

निगम के समस्त जोनल कार्यालयों के अंदर व अन्य स्थानों पर पार्किंग से स्क्रैप की गाड़ियां उठायी गयी थी उनकी नीलामी ।

आरजी कॉम्प्लेक्स, पहाड़गंज पार्किंग का विकास 

  • मादीपुर, उद्योग नगर, पंजाबी बाग, नांगलोई, प्रताप नगर और मुंडका मेट्रो स्टेशन पर निजी क्षेत्र के सहयोग विकसित।
  • फतेहपुरी बाग में 196 कारों हेतु पार्किंग का विकास।
  • हनुमान सेतु पर 95 कारों की स्टैक पार्किंग का विकास।