रूस पर नए प्रतिबंध लगा सकते हैं ईयू के देश, जर्मनी ने कहा, पुतिन के सहयोगियों की यात्रा पर लगे प्रतिबंध

 

रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन की फाइल फोटो

विदेश मंत्रियों की बैठक में कार्रवाई के लिए उन अधिकारियों के नाम पर भी विचार किया जा सकता है जो नवलनी के मामलों में शामिल रहे हैं। इसके अलावा मानवाधिकार हनन के मामलों को देखते हुए किस तरह की कार्रवाई की जा सकती है इस पर भी वार्ता होगी।

ब्रसेल्स, एपी। यूरोपियन यूनियन (ईयू) के विदेश मंत्रियों की बैठक में रूस के खिलाफ नए प्रतिबंध लगाए जा सकते हैं। रूस के विपक्षी नेता एलेक्सी नवलनी की गिरफ्तारी को 27 देशों का यह ब्लॉक गलत मान रहा है। जर्मनी के विदेश मंत्री हाइको मास ने बैठक से पहले ही रूस के खिलाफ नए प्रतिबंधों की मांग कर दी है। उनके साथ ही कुछ अन्य विदेश मंत्रियों ने भी यही प्रस्ताव रखा है।

विदेश मंत्रियों की बैठक में कार्रवाई के लिए उन अधिकारियों के नाम पर भी विचार किया जा सकता है, जो नवलनी के मामलों में शामिल रहे हैं। इसके अलावा मानवाधिकार हनन के मामलों को देखते हुए किस तरह की कार्रवाई की जा सकती है, इस पर भी वार्ता होगी। जर्मनी के विदेश मंत्री मास ने कहा है कि यूरोपियन यूनियन को पुतिन के सहयोगियों की यात्रा और उनकी संपत्तियों पर प्रतिबंध लगाना चाहिए। ईयू के विदेश मंत्रियों की अमेरिका के विदेश मंत्री एंटोनी ब्लिंकन से भी वीडियो कॉल पर बात होगी।

रूस इस मामले में ईयू से टकराव के रास्ते पर : जोसेफ बोरैल

यूरोपियन यूनियन के विदेशी नीति के प्रमुख जोसेफ बोरैल ने कहा कि यह साफ है कि रूस इस मामले में ईयू से टकराव के रास्ते पर है। नवलनी के मामले में रूस ने पूर्व में भी सभी आग्रह को ठुकराया है। उसने नवलनी के मामले में यूरोपियन यूनियन की मानवाधिकार अदालत के फैसले को भी मानने से इन्कार कर दिया।

ज्ञात हो कि रूस के राष्ट्रपति ब्लादिमीर पुतिन के धुर विरोधी नवलनी पांच माह जर्मनी में इलाज कराने के बाद रूस लौटे थे, जिन्हें तुरंत ही गिरफ्तार कर लिया गया था। इसी मसले को लेकर यूरोपियन यूनियन और रूस के बीच तनाव की स्थिति है।