सड़कों पर अतिक्रमण और जाम से जल्‍द मिलेगी मुक्ति : इमरान हुसैन

 

दिल्‍ली में जाम में फंसे हुए कई वाहन।

मंत्री ने क्षेत्रीय एसडीएम से एक विस्तृत रिपोर्ट तैयार करने का निर्देश दिया। इसके अलावा उन्होंने दिल्ली पुलिस ट्रैफिक पुलिस नगर निगम के संबंधित अधिकारियों से रोड पर मुस्तैदी से अपना काम करने को कहा जिससे जाम और अतिक्रमण की समस्या खत्म हो सके।

नई दिल्ली,  संवाददाता। सड़कों पर अतिक्रमण और अवैध पार्किग की मिल रही शिकायतों को देखते हुए  दिल्ली सरकार के खाद्य आपूर्ति मंत्री इमरान हुसैन ने आराकशा रोड से लेकर कुतुब रोड तक पैदल निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि लोगों को जल्द ही इन सड़कों पर फैले अतिक्रमण और अवैध पार्किग से मुक्ति मिल जाएगी, जिसके बाद लोगों को जाम से जूझना नहीं पड़ेगा।

मंत्री इमरान हुसैन के दौरे के दौरान करोलबाग के एसडीएम बलराम मीणा, दिल्ली ट्रैफिक पुलिस व निगम के अधिकारी मौजूद रहे। निरीक्षण के दौरान मंत्री ने पाया कि सड़क पर कई स्थानों पर अवैध पार्किग चल रही है, जिससे जाम लग रहा है।

मंत्री ने क्षेत्रीय एसडीएम से एक विस्तृत रिपोर्ट तैयार करने का निर्देश दिया। इसके अलावा उन्होंने दिल्ली पुलिस, ट्रैफिक पुलिस, नगर निगम के संबंधित अधिकारियों से रोड पर मुस्तैदी से अपना काम करने को कहा, जिससे जाम और अतिक्रमण की समस्या खत्म हो सके। इसके साथ ही मंत्री ने दिल्ली के पुलिस कमिश्नर व वरिष्ठ अधिकारियों से अपील की कि कई बार एंबुलेंस भी जाम में फंस जाती है, जिससे कि गंभीर मरीज रास्ते में ही दम तोड़ देते हैं।

क्षतिग्रस्त पेड़ के बदले 100 पेड़ लगाए पीडब्ल्यूडी

वहीं, लोधी कालोनी के मीरा मार्ग पर पीडब्ल्यूडी की ओर से किए जा रहे नाला निर्माण से क्षतिग्रस्त हुए पेड़ों को लेकर वन विभाग ने पीडब्ल्यूडी को निर्देश दिया है कि वह क्षतिग्रस्त किए गए एक पेड़ के बदले 100 पौधे लगाए और पांच साल तक उनका रखरखाव भी करें। गौरतलब हो कि पिछले साल इसी निर्माण कार्य के चलते करीब 30 पेड़ क्षतिग्रस्त हुए थे और इस साल भी कुछ पेड़ क्षतिग्रस्त हुए हैं। पेड़ क्षतिग्रस्त करने की शिकायत मिलने के बाद वन विभाग के अधिकारियों ने मौके का निरीक्षण कर नुकसान का आकलन किया था। उसके बाद पीडब्ल्यूडी को पेड़ को बचाने के लिए कदम उठाने का निर्देश दिया गया है। एक एनजीओ ने पेड़ों के क्षतिग्रस्त होने की शिकायत स्थानीय थाने में भी की थी।